गैस सिलेण्डर की कालाबाजारी करने वालों पर चला प्रशासन का डंडा, 81 सिलेण्डर जब्त 

गैस सिलेण्डर की कालाबाजारी करने वालों पर चला प्रशासन का डंडा,  81 सिलेण्डर जब्त जिलाधिकारी डॉ. रोशन जैकब के निर्देश पर चला अभियान।

बाराबंकी। घरेलू गैस सिलेण्डरों की कालाबाजारी और उसके कामर्शियल उपयोग पर प्रशासन द्वारा सख्त रुख अख्तियार किया गया है। जिलाधिकारी डॉ. रोशन जैकब के निर्देश पर गठित अधिकारियों की पांच टीमों ने बाराबंकी शहर में घरेलू गैस सिलेण्डर का प्रतिष्ठानों एवं वाहनों में अवैध प्रयोग पर अंकुश लगाने के लिए अभियान चलाया।

होटलों, ढाबो, रेस्टोरेन्ट तथा वाहनों की चेकिंग के दौरान 81 सिलेण्डर जब्त किये गये और 10 प्रतिष्ठानों के 30 कामर्शियल सिलेण्डर के अनियमित पाये जाने पर उन्हें नोटिस दी गयी। बाराबंकी शहर में अधिकारियों ने 48 दुकानों पर चेकिंग की कार्रवाई की। इसके साथ ही वाहनों में अवैध रूप से एलपीजी सिलेण्डर के प्रयोग किये जाने के विरुद्ध चलाये गये अभियान के दौरान तीनों एआरटीओ के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा 18 वाहन बन्द किये गये और 11 वाहनों का चालान हुआ।

घरेलू गैस सेलेण्डर की कालाबाजारी और कामर्शियल उपयोग तथा वाहनों में अवैध प्रयोग करने पर कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी ने पांच टीम गठित की थी, जिसमें उपजिलाधिकारी सदर सुनील कुमार वर्मा के नेतृत्व में गठित टीम में पुलिस उपाधीक्षक नगर, कोतवाल, पूर्ति विभाग के एआरओ और 02 सप्लाई इंस्पेक्टर शामिल थे। दूसरी टीम जिला पूर्ति अधिकारी राहुल यादव के नेतृत्व में गठित की गयी थी, जिसमें सीओ सदर, थानाध्यक्ष जैदपुर, पूर्ति विभाग के एआरओ और 02 सप्लाई इंस्पेक्टर शामिल थे। इन दोनों टीमों ने बाराबंकी शहर सहित सागर इंस्टीट्यूट से लेकर सफेदाबाद तक होटल, ढाबा, रेस्टोरेंट आदि प्रमुख प्रतिष्ठानों पर छापामार कार्रवाई की।

तीनों एआरटीओ के नेतृत्व में गठित दलों ने वाहनों की चेकिंग की, जिसमें अवैध रूप से एलपीजी सेलेण्डर के उपयोग पर कार्रवाई की गयी।

घरेलू गैस सिलेण्डरों के दुरुपयोग के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने पूरे जिले में सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। दरअसल घरेलू गैस सिलेण्डरों का कामर्शियल उपयोग अथवा वाहनों में अवैध प्रयोग से सामान्य उपभोक्ताओं को कठिनाई होती है उन्हें समय से घरेलू गैस सेलेण्डर नहीं मिल पाता। इसके अतिरिक्त गैस सिलेण्डरों की कालाबाजारी से सरकार को राजस्व हानि होती है, जबकि ऐसा करना गैर कानूनी है। घरेलू गैस सेलेण्डरों के व्यावसायिक उपयोग होने पर कामर्शियल गैस सेलेण्डर की खपथ बहुत कम होती है। जनपद में 450 कामर्शियल गैस कनेक्शन है, जिसमें 350 गैस कनेक्शन निष्क्रिय है यानि वह ऐसे लोग कामर्शियल गैस सिलेण्डर नहीं ले रहे हैं।

Share it
Top