योगी नहीं संभाल पा रहे प्रदेश की कानून-व्यवस्था: कांग्रेस

योगी नहीं संभाल पा रहे प्रदेश की कानून-व्यवस्था: कांग्रेसपूरे प्रदेश में अपराधियों की समानान्तर सरकार स्थापित है: कांग्रेस

लखनऊ। राजधानी लखनऊ सहित पूरे उत्तर प्रदेश में नई सरकार के आने के बाद भी कानून व्यवस्था में सुधार नहीं दिख रहा है। पिछले दिनों हत्या, लूट और बलात्कार की कई घटनाएं सामने आ रही हैं जबकि सरकार बनने के पहले से ही बीजेपी कानून व्यवस्था में सुधार लाने का वादा कर चुकी है। ऐसे में विपक्ष सहित दूसरी पार्टियों‍ ने यूपी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता द्विजेन्द्र त्रिपाठी ने शनिवार को बयान जारी कर कहा कि प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने में पूरी तरह विफल साबित हुई है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में अपराधियों की समानान्तर सरकार स्थापित है। कानून-व्यवस्था संभालने वाली पुलिस का इकबाल पूरी तरह खत्म हो चुका है क्योंकि भाजपा के नेताओं व पदाधिकारियों की ओर से उनके ऊपर हमले जारी हैं। जनता व पुलिस का विश्वास बहाल करने के लिए प्रदेश को एक पूर्णकालिक गृहमंत्री की जरूरत है। उम्मीद है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री इस विचार करेंगे।

उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश में सत्तासीन होते ही अपराधियों के पौ बारह हो गए हैं। भाजपा के विधायक और नेता प्रदेश की पुलिस का मनोबल तोड़ने में जुटे हुए हैं, जिससे पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों का मनोबल पूरी तरह टूट चुका है। ऐसे में प्रदेश की पुलिस के सांगठनिक ढांचे में परिवर्तन कर जोनवार पुलिस अधिकारियों की नियुक्ति मात्र से ही कानून व्यवस्था दुरूस्त करने का सपना पालने वाली योगी सरकार को सबसे पहले भाजपा के विधायकों और नेताओं पर कार्यवाही करनी होगी, जिससे पुलिस बल को विश्वास हो कि उनके साथ सरकार खड़ी है।

कांग्रेस ने कहा कि सत्ता के मद में चूर भारतीय जनता पार्टी के विधायक और नेताओं ने जिस प्रकार कानून व्यवस्था को अपने हाथों में लेकर पुलिस का मनोबल तोड़ा है जिसकी परिणति के रूप में सहारनपुर में जातीय संघर्ष में दलितों पर अत्याचार हुए, यह किसी भी चुनी हुई लोकतांत्रिक सरकार के लिए शर्मनाक है।

Share it
Share it
Share it
Top