जानलेवा साबित हो रहे हैं बाइकर्स के स्टंट, यहां-यहां मचाते हैं धूम

Rishi MishraRishi Mishra   31 March 2017 8:59 PM GMT

जानलेवा साबित हो रहे हैं बाइकर्स के स्टंट, यहां-यहां मचाते हैं धूमलखनऊ में गोमती नगर के पास कुछ इसी तरह स्टंट करते हैं बाइकर्स (फोटो: विनय गुप्ता)

लखनऊ। कम उम्र में रफ्तार का शौक और उस पर कलाबाजियों की गुस्ताखियां। घर से दोस्तों के साथ निकला नौनिहाल लाश में तब्दील होकर वापस पहुंचता है। लगभग तीन साल से राजधानी के सबसे अधिक सुरक्षित इलाकों में स्टंटबाजी का खेल जारी है, मगर पुलिस बाइकर्स पर काबू नहीं पा रही है। कभी खुद के लिए तो कभी दूसरों की जिंदगी पर खतरा बन रहे हैं स्टंटबाज। गोमती नगर क्षेत्र इस स्टंटबाजी के लिए सबसे कुख्यात होता जा रहा है। यहां बृहस्पतिवार की रात एक और युवक की इसी तरह की स्टंटबाजी से मौत हुई है।

ये भी पढ़ें- ये जब बाइक पर फर्राटा भरती हैं, लोग बस देखते रह जाते हैं

राजधानी के ट्रांसगोमती इलाके में राहगीरों के जानी दुश्मन स्टंटबाजों का कहर लगातार जारी है। गोमती नगर अम्बेडकर पार्क के सामने स्टंट कर रहे छात्र प्रतीक वर्मा (24) की एक्सीडेंट में मौत हो गई थी। जबकि एक बच्ची सहित दो लोग घायल हो गए थे। इस तरह के हादसे आए दिन होते रहते हैं। मगर पुलिस इन स्टंटबाजों पर लगाम नहीं लगा पा रही है। विपुलखंड निवासी सर्वेश मिश्र बताते हैं कि, स्टंटबाज यहां लोगों के घूमने फिरने वाली सड़क पर रोजाना खौफ फैलाते सुबह और शाम को देखे जा सकते हैं लेकिन लापरवाह पुलिस आंख बंद करके बैठी हुई है।

स्टंटबाजों पर लगाम लगाने के लिए समय-समय पर विशेष अभियान चलाए जाते हैं। अब नए सिरे से इन इलाकों में विशेष गश्त के जरिए स्टंटबाजी रोकी जाएगी। अभिभावकों की भी जिम्मेदारी है कि वे कम उम्र के बच्चों को पावर बाइक न खरीद कर दें।
मंजिल सैनी, एसएसपी, लखनऊ

पिछले दिनों करीब आधा दर्जन से अधिक ट्रांसगोमती इलाके में हो चली घटनाओं के बाद स्टंटबाजों के विरुद्ध अभियान चलाया गया था। इस अभियान के तहत ट्रैफिक पुलिस ने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर कई पावर बाइक भी सीज की थीं लेकिन यह अभियान कुछ दिनों तक चला और इस समय ठंडे बस्ते में चला गया। गोमती नगर में हाईटेक पुलिस का 1090 चौराहा और इसके आसपास का इलाका इस समय स्टंटबाजों के जमघट से घिरा रहता है। स्मारक कर्मी विशाल बताते हैं कि यहां स्पीड पर कोई लगाम नहीं है। इस वजह से इन इलाकों में पुलिस ड्यूटी तो करती है, लेकिन जान के दुश्मन इन स्टंटबाजों पर कोई उचित कार्रवाई नहीं कर पाती। इसके चलते इनके हौसले बुलंद हैं।

यहां होती है सबसे अधिक स्टंटबाजी

मरीन ड्राइव, अम्बेडकर पार्क के सामने, फन मॉल के सामने, समतामूलक चौराहा और जिया मऊ पुल के अलावा पिकप के पास बना नया ओवरब्रिज और जनेश्वर मिश्र पार्क की ओर जाने वाला फ्लाईओवर स्टंटबाजों का अड्डा बना है। देर रात यहां कम उम्र के लड़के अक्सर बाइक पर स्टंट करते हुए दिख जाते हैं। 1090 चौराहे से पहले बने गोमती पुल पर अक्सर देर रात लड़कों का हुजूम ग्रुप बनाकर पॉवर बाइक से स्टंटबाजी करते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top