सिद्धार्थनगर को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए 50 टीमों ने संभाली कमान

सिद्धार्थनगर को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए 50 टीमों ने संभाली कमानजिले को खुले में शौच से मुक्त कराने को लेकर जिला प्रशासन ने कमर कस ली है।

अमित श्रीवास्तव, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

सिद्धार्थनगर। जिले को खुले में शौच से मुक्त कराने को लेकर जिला प्रशासन ने कमर कस ली है। 260 चैम्पियन का प्रशिक्षण कराकर उन्हें पांच-पांच के समूहों में बाटंकर 50 टीमें बनाई गयी हैं। शासन की मंशा है कि दिसम्बर 2017 तक 30 जिलों को खुले में शौच मुक्त करा लिया जाए, जिसमें सिद्धार्थनगर भी शामिल है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

खुले में शौच की प्रथा को खत्म करने के लिए जिला प्रशासन ने 50 टीमों को गांव में जाने के लिए कार्य योजना तैयार कर लिया है। टीम गांव में जाकर पांच दिन रुककर ग्रामीणों को ट्रिगर और फालोअप करके जागरूक करेंगी। ग्रामीणों को सस्ते शौचालय के निर्माण एवं उसके लाभ के बारे में बताया जाएगा। टीम में एडीओ पंचायत, खण्डप्रेरक, सचिव, आशा, आगंनबाडी, सफाईकर्मचारी एवं समाजसेवी आदि शामिल हैं।

इस सन्दर्भ में पंचायतीराज विभाग के जिला परियोजना समन्वयक संजय तिवारी ने बताया, “ इस वर्ष जनपद को खुलें में शौच से मुक्त कर दिया जाएगा। इसके लिए समाज के सभी वर्गों का सहयोग लिया जा रहा है।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top