गंगा दशहरा पर्व से शुरु होगा गंगा निर्मलीकरण का वृहद अभियान: मुख्यमंत्री 

गंगा दशहरा पर्व से शुरु होगा गंगा निर्मलीकरण का वृहद अभियान: मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘नमामि गंगे परियोजना' के तहत राज्य में गंगा नदी की निर्मलता के लिए आगामी जून में गंगा दशहरा पर्व से एक वृहद अभियान चलाने के निर्देश दिये हैं।

योगी ने कल रात होमगार्ड्स विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान कहा कि प्रदेश में गंगा नदी को निर्मल बनाने के लिये नमामि गंगे परियोजना के तहत आगामी जून में गंगा दशहरा पर्व से एक विस्तृत अभियान चलाया जाए और इसमें सफलता के लिये इसमें होमगार्ड्स जवानों की सहायता भी ली जाए।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने गंगा नदी तथा उसकी सहायक नदियों से जुड़े सभी गाँवों को खुले में शौच से मुक्त करने के उद्देश्य से ‘नमामि गंगे परियोजना' से धन प्राप्त करने के लिए एक विस्तृत कार्ययोजना केंद्र सरकार को तत्काल भेजने तथा खुले में शौच ना करने के प्रति नागरिकों को जागरुक करने के लिये पदयात्रा कार्यक्रम आयोजित कराने के निर्देश दिये।

आगामी गंगा दशहरा तिथि के आसपास किसी दिन को गंगा दशहरा के अवसर पर गंगा के नजदीक सभी विकास खण्डों के प्रधानों तथा ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों का वृहद सम्मेलन आयोजित कराया जाए। प्रदेश के सभी ग्रामीण घरों को दो अक्तूबर 2018 तक शौचालय सुविधा से युक्त करके प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिये वृहद स्तर पर कार्ययोजना बनाकर कार्यों को पूरा कराया जाए।
योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने होमगार्ड्स जवानों की ड्यूटी आबंटन में पारदर्शिता बरतने के निर्देश देते हुए कहा कि उन्हें ज्यादा से ज्यादा ड्यूटी दी जाए। कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाने में होम गार्ड सहायक साबित होते हैं, ऐसे में उनका मनोबल बढाने की आवश्यकता है। योगी ने कहा कि होम गार्डों की समस्याओं पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने पंचायती राज विभाग के प्रस्तुतिकरण के समय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 79 पंचायत भवनों के सापेक्ष 74 पंचायत भवनों का निर्माण कराए जाने के फलस्वरुप बाकी बचे पांच पंचायत भवनों का निर्माण आगामी 31 मई, 2017 तक निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण किया जाए।

उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में 521 अन्त्येष्टि स्थलों के विकास के सापेक्ष 450 का निर्माण कार्य पूरा हो जाने के फलस्वरुप बाकी बचे 71 अन्त्येष्टि स्थलों के विकास एवं निर्माण का कार्य आगामी जून तक पूरा कराने के निर्देश दिये।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top