एलडीए का हाथ अवैध निर्माण करने वालों के साथ

एलडीए का हाथ अवैध निर्माण करने वालों के साथहोगी कार्र्वाई।

लखनऊ। अवैध निर्माण भले ही शहर का स्वरूप बिगाड़ रहा हो मगर लखनऊ विकास प्राधिकरण इस पर कोई रोक नहीं लगाएगा। टाप मैनेजमेन्ट ग्रुप की बैठक में मंगलवार को उपाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार सिंह ने बिना मानचित्र स्वीकृत कराए गए अवैध निर्माणों तथा स्वीकृत मानचित्र के विरूद्ध कराये गये निर्माणों में शमन की कार्यवाही कराकर प्राधिकरण की आय बढ़ाने के निर्देश दिए गए। उनके द्वारा इस प्रकार के निर्माणों का सर्वे कराकर शमन की कार्यवाही कराने पर प्राधिकरण को लगभग 5000 हजार करोड़ की आय होने की संभावना भी व्यक्त की गयी। उन्होंने डीसी श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियंता को दायित्व देते हुए निर्देशित किया कि अभियंताओं का अपने स्तर से लक्ष्य निर्धारित किया जाए।

उन्होंने कहा कि लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा शासन की कई महत्वपूर्ण योजनाओं का क्रियान्वयन कार्यदायी संस्था के रूप में किया गया है। प्राधिकरण में अनुभवी अभियंता होने के कारण प्राधिकरण को शासन की निर्माण एजेंसी घोषित कराने की कार्यवाही की जाए तथा इस कार्य के लिए डिपाजिस्ट सेल की स्थापना तत्काल की जाए।

इस विभाग में अभियन्ताओं, वित्त एवं लेखा तथा अन्य कर्मचारियों को पूर्णकालिक रूप से तैनात किया जाए ताकि परियोजनाओं का कार्य गुणवत्तापूर्वक एवं समयबद्ध ढंग से किया जा सके। प्राधिकरण के उपाध्यक्ष द्वारा अपेक्षा की गयी कि मोहान रोड योजना एवं बसन्त कुंज योजना में विकास कार्य युद्ध स्तर पर कराये जाने हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस योजना के विकास के लिए पदस्थ पीके सिंह, अधिशासी अभियन्ता द्वारा कार्यो में पर्याप्त रूचि नहीं लिये जाने के कारण उन्हें स्थानान्तरित करते हुए सी0पी0ए0यू0 एवं अधीक्षण अभियन्ता (प्रोजेक्ट) दुर्गेश श्रीवास्तव के कार्यालय से सम्बद्ध कर दिया गया है। सिंह के स्थान पर नवप्रोन्नत अधिशासी अभियन्ता एके राय को मोहान रोड योजना एवं बसन्तकुंज योजना/जोन-3 का कार्य आवंटित किया गया है।

उन्होंने बैठक में कहा कि प्राधिकरण में अवैध निर्माणों के ध्वस्तीकरण के आदेश बड़ी संख्या में लम्बित है। इनके क्रियान्वयन हेतु बार बार निर्देश दिये गए हैं परन्तु संबंधित अभियन्ताओं द्वारा इस ओर अपेक्षित ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यह स्थिति अत्यंत खेदजनक है। उन्होंने इन्फोसमेण्ट मैनेजमेण्ट प्लान तैयार किये जाने तथा जो आदेश ध्वस्तीकरण हेतु लम्बित है, उनका क्रियान्वयन सुनिश्चित कराये जाने के भी आदेश दिए।

पुरानी बोतल में एलडीए की नई शराब

नई सरकार आने के बाद एलडीए नई बोतल में पुरानी शराब पेश कर रही है। वीसी सत्येंद्र कुमार सिंह ने जो आदेश अपने शुरुआती दौर में जारी किए थे और अफसरों ने उसका पालन नहीं किया, उनको भाजपा की सरकार आने के बाद दोबारा जारी कर के कर्तव्यों की इतिश्री कर दी है।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह द्वारा प्राधिकरण के अधिकारियों को अपने वार्षिक लक्ष्यों (20 बिन्दु) का निर्धारण करते हुए सचिव/अपर सचिव के माध्यम से उपाध्यक्ष से अनुमोदित कराने के आदेश दिए गए हैं। उनके द्वारा अनुमोदन के पश्चात् इसे वेबसाइट पर अपलोड करने के आदेश दिए गए हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि वे अपने वार्षिक लक्ष्यों को मासिक व पाक्षिक रूप में भी तैयार करें तथा उनके द्वारा यह भी कहा गया कि इसी आधार पर उनका वार्षिक मूल्यांकन किया जाएगा। इसी तरह के आदेश वीसी ने करीब डेढ़ साल पहले भी दिए थे। कुछ महीने तक अफसरों ने इसका पालन किया था। मगर बाद में बस बंद कर दिया गया था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top