तो अब महंगे घर नहीं बनाएगा एलडीए

तो अब महंगे घर नहीं बनाएगा एलडीएपत्रकारों को बोर्ड मीटिंग की जानकारी देते एलडीए वीसी प्रभु नारायण सिंह

मुख्य संवाददाता

लखनऊ। एलडीए चालू वित्तीय वर्ष में कोई भी महंगी आवासीय योजना नहीं शुरू करेगा। प्राधिकरण बहुत जल्द ही मध्यम आय वर्ग के लिए आवासीय योजना लाएगा। जिसको लेकर शासन की अनुमति ली जाएगी। प्राधिकरण की बोर्ड मीटिंग में बुधवार को वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए 2675.35 करोड़ रुपये की आय और 2611.42 करोड़ रुपये का व्यय संबंधित बजट पास किया गया। प्राधिकरण इस साल सबसे अधिक खर्च अपनी पुरानी योजनाओं के निर्माण पर खर्च करेगा। ये खर्च 1168.50 करोड़ रुपये का होगा। एलडीए ने पिछली सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट जनेश्वर मिश्र पार्क पर कोई नया खर्च न करने का फैसला किया है। इसके रखरखाव का काम 150 करोड़ रुपये की एफडी के ब्याज से ही किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

कमिश्नर अनिल गर्ग की अध्यक्षता में प्राधिकरण बोर्ड की मीटिंग बुधवार को हुई। जिसमें एलडीए वीसी, सचिव और मुख्य अभियंता सहित अधिकांश बोर्ड मेंबर मौजूद रहे। बोर्ड में केवल एक एजेंडा एलडीए का सालाना बजट था, जिसको अनुमोदित कर दिया गया।

बैठक को लेकर एलडीए वीसी प्रभुनारायण सिंह ने बताया कि, इस बजट में किसी भी नई स्कीम का प्राविधान नहीं किया गया है। हमारे लिए पहला लक्ष्य पुरानी योजनाओं को पूरा कर के आवंटियों को कब्जा दिलाना है। जिसके बाद में हम नई योजना की बात करेंगे। हमारे करीब पांच हजार फ्लैट खाली हैं। जिनका नये सिरे से पंजीकरण खोल कर आवंटन लाटरी के माध्यम से किया जाएगा। मध्यम आय वर्ग के लिए हजारों की संख्या में नये भवन बनाए जाएंगे। मगर नये महंगे भवनों की कोई योजना नहीं आएगी।

जनेश्वर मिश्र पार्क बस पूरा हुआ

जनेश्वर मिश्र पार्क के लिए आगामी बजट में कोई प्राविधान नहीं किया गया है। जिसका सीधा मतलब है कि इस पार्क में अब आगे कोई काम नहीं करवाया जाएगा। वीसी प्रभुनारायण सिंह ने बताया कि, जनेश्वर पार्क का काम पूरा हो चुका है। उसके रखरखाव के लिए एक एफडी है। जिसके ब्याज से रखरखाव किया जाएगा।

अवैध निर्माण और भ्रष्टाचार में लिप्त अभियंता नपेंगे

प्राधिकरण वीसी ने बताया कि पिछले दिनों आवास राज्य मंत्री ने मौके पर जाकर जो भी गड़बड़ियां पकड़ी थीं, उन पर बहुत जल्द ही एक्शन होगा। अवैध निर्माण कराने वाले अभियंताओं की भी सूची बनाई जा रही है। बहुत जल्द ही इस सूची को आम लोगों के सामने रखा जाएगा। इन अभियंताओं पर भी एक्शन होगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.