मुजफ्फरनगर में हिंसा में एक मरा, पुलिस के जवान सतर्क

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   6 Jun 2017 5:17 PM GMT

मुजफ्फरनगर में हिंसा में एक मरा,  पुलिस के जवान सतर्कमुजफ्फरनगर के एक गांव नसीरपुर में एक छोटे विवाद ने सांप्रदायिक घटना का रूप ले लिया है पर पुलिस पूरी तरह चौकन्ना है।

लखनऊ (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद की नई मंडी थाना क्षेत्र के नसीरपुर गांव में कपड़ों पर गंदा पानी पड़ने को लेकर हुए विवाद ने सांप्रदायिक घटना का रूप ले लिया। दोनों पक्षों में हुए पथराव और फायरिंग में गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई और आधा दर्जन लोग घायल हो गए।

गांव में तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस ने दोनों पक्षों से कुल 20 लोगों को हिरासत में लिया है।

सोमवार शाम नई मंडी थाना क्षेत्र के नसीरपुर गांव में रहने वाला इकबाल नमाज पढ़ने के बाद जब ब्रजपाल के घर के पास निकला तो नाली से निकल रहे गंदे पानी की छींटे उसके कपड़ों पर पड़ गईं। इसको लेकर दोनों पक्षों में नोकझोंक होने लगी। खबर पंचायत तक पहुंची तो दोनों पक्षों को शांत कराकर मामला निपटाया गया। लेकिन, देर शाम अचानक दोनों पक्ष के लोगों में मारपीट शुरू हो गई और मामले ने सांप्रदायिक रंग ले लिया, जिसके बाद दोनों पक्षों से पथराव और फायरिंग की जाने लगी।

फायरिंग में ब्रजपाल और उसके बेटे आकाश को गोली लग गई। आधा दर्जन लोग घायल हो गए। आकाश को गंभीर हालत में मेरठ ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई जबकि ब्रजलाल की हालत गंभीर है। सूचना पर एसएसपी अनंत देव तिवारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पुलिस अधीक्षक नगर राकेश कुमार सिंह ने बताया, "मृतक की पहचान आकाश के रूप में हुई है। वहीं छह घायल व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस सिलसिले में 20 लोगों को हिरासत में लिया गया है। अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को गांव में भेजा गया है और वहां की स्थिति अभी नियंत्रण में है।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top