एटा में थाने में हुए सात फेरे, पुलिस बनी बाराती

एटा में थाने में हुए सात फेरे, पुलिस बनी बारातीपुलिस ने कराया दोनो पक्षों के बीच समझौता, थाने पर हुई शादी

एटा। थाने पर दूल्हा-दुल्हन पहुंचे, मंड़प सजा और सात फेरे भी हुए, इस अनोखी शादी में पुलिस बाराती बनी, यह सब तब हुआ जब एक अभागे पिता पर तय वक्त पर बेटी विदा करने के लिए जब रूपयों का इंतजाम न हो सका, इस पर दूल्हा पक्ष ने छह वर्ष पुराने शादी के इस रिश्ते को ठुकरा दिया। लाचार पिता जब इंसाफ के लिए थाने पहुंचा तो पुलिस ने उसे इंसाफ भी दिलाया और उसकी बेटी की विदा भी उसी लड़के के साथ करायी। यही नही शादी के सात फेरे भी कोतवाली में दिलाए गए। पुलिस के इस इंसाफ की चर्चा क्षेत्र में बनी हुयी है।

थाना मिरहची क्षेत्र के गाँव अमृतपुर निवासी मौहर सिंह पुत्र सोनपाल की शादी राधा पुत्री श्री निवास निवासी टिकाथर थाना जैथरा से तय हुई थी। रिश्ता तय होने के बाद अचानक लड़की के भाई की तबीयत खराब हो गयी जो पूंजी पिता ने लड़की की शादी के लिए इकट्ठी की थी वह उसके बेटे के इलाज में खर्च हो गयी। इधर शादी की तारीख नजदीक आने लगी, लड़की के पिता पर रूपयों का इंतजाम हो नही पा रहा था, इस पर सोनपाल ने अपने पुत्र की शादी फिरोजाबाद से तय कर दी। शादी के लिए दो जुलाई रखी गयी, लड़के पक्ष शादी की तैयारी में जुट गया, जब इस मामले की जानकारी राधा के परिजनों को हुई तो वह मिरहची थाने आ पहुंचे और मामले की पूरी जानकारी कोतवाली इंचार्ज कैलाश दुबे को दी।

ये भी पढ़ें- कर्ज माफी के ऐलान के बाद भी आखिर क्यों जारी है किसानों की आत्महत्या का सिलसिला ?

पुलिस ने शिकायत के आधार पर मौहर सिंह व उसके पिता को थाने बुला लिया। मौके पर ग्राम प्रधान निगम सिंह गाँव के गणमान्य लोगों के साथ थाने पहुंच गए। सभी ने मिलकर मौहर सिंह और राधा की शादी के लिए दोनो पक्षों को राजी करा लिया। मौके की नजाकत तो देखते हुए थाना प्रभारी कैलाश दुबे ने ग्राम प्रधान व गणमान्य लोगों की मौजूदगी में थाना परिसर में मौजूद मन्दिर में ही हिन्दू रिति-रिवाज के साथ राधा और मौहर सिंह की शादी करा दी। थाने में हुयी इस शादी को लेकर हर ओर पुलिस की तारीफ की जा रही है।

अब छोटे बेटे की जाएगी फिरोजाबाद बारात

इधर जब मौहर सिंह की शादी राधा से हुई तो मामला फिरोजबाद वाले रिश्ते को लेकर आया इस पर पुलिस और प्रधान ने भी इस मामले को सुलझा दिया। दरअसल मौहर सिंह की शादी फिरोजाबाद से तय कर दी गयी थी। जिसकी 02 जुलाई 2017 को फिरोजाबाद बारात जानी थी। थाने पर हुए फैसले में मौहर सिंह के छोटे भाई अमर सिंह का रिश्ता फिरोजाबाद तय कर दिया गया, वही मौहर सिंह की शादी के बाद सभी परिजन अमर सिंह की तैयारियों में जुट गए।

लड़की के पिता राम निवास कहते हैं, ‘‘मैनें छह वर्ष पूर्व अपनी लडकी राधा का रिश्ता मौहर सिंह के साथ तय किया था। इसी बीच मेरे पुत्र की आंत भष्ट हो जाने के कारण इलाज के चलते अधिक पैसा खर्च हो जाने से में उस समय अपनी पुत्री की शादी नही कर सका। 20 जून 2017 को शादी की तारीख तय हुई थी। लेकिन मांग की रकम पूरी ना होने के कारण लडके पिता ने शादी करने से इनकार कर दिया।"

थाना इंचार्ज कैलाश दुबे कहते हैं ‘‘लड़की का पिता शिकायत लेकर थाने आया था जब पूरा मामला सुना तो दोनो पक्षों को थाने बुला लिया, सभी ने मिलकर मामले को सुलझा लिया, दोनो पक्ष राजी हो गए तो इनकी शादी थाने में स्थित मन्दिर पर करा दी गयी।‘‘

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top