एनटीपीसी हादसा : यूनिट शिफ्ट होने के बाद ज़बरदस्ती कराया जा रहा था काम

एनटीपीसी हादसा : यूनिट शिफ्ट होने के बाद ज़बरदस्ती कराया जा रहा था कामएनटीपीसी हादसा

रायबरेली। ऊंचाहार के एनटीपीसी में बुधवार शाम हुए वीभत्स हादसे में 26 लोगों की मौत हो गई और लगभग 100 लोग घायल हैं। हादसे के बाद मज़दूर गुस्से में हैं। मजदूर एनटीपीसी परिसर के बाहर पहुंच कर धरना दे रहे हैं। घटना स्थल पर धरना दे रहे मज़दूर हादसे की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।

एनटीपीसी की छठी यूनिट में काम करने वाले अरुण कुमार पांडे गाँव कनेक्शन को बताते हैं, ''बुधवार दोपहर लगभग 3.30 बजे यह हादसा हुआ । उस समय हम लोग एक नंबर में काम कर रहे थे। हमें पता चला कि राख वाले पाइप में राख ज़्यादा हो गई थी, जिससे डक्ट फट गया। हमें ये भी पता चला कि यूनिट शिफ्ट हो गई थी लेकिन इसे ज़बरदस्ती चलाया जा रहा था।”

घटना के समय वहां का माहौल कैसा था, ये पूछने पर अरुण ने बातया,''घटना के समय का माहौल बहुत बुरा था। घायलों को ले जाने के लिए आस-पास के लोगों और कर्मचारियों ने काफी मदद की। मज़दूरों का कहना है कि मृतकों को आर्थिक सहायता 2 लाख से ज़्यादा दी जाए। साथ ही घायलों को भी 50 हज़ार और 25 हज़ार से ज़्यादा मुआवजा दिया जाए।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top