न्याय के लिए पीएम मोदी को भी योगी से उम्मीद 

न्याय के लिए पीएम मोदी को भी योगी से उम्मीद इलाहाबाद हाई कोर्ट की 150वीं सालगिरह पर पीएम मोदी ने सीएम योगी से न्याय व्यवस्था में सुधर के लिए उम्मीद जताई।

इलाहबाद/लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को इलाहाबाद हाई कोर्ट की 150वीं सालगिरह के मौके पर इलाहाबाद पहुंचे। संगम नगरी में पीएम मोदी के साथ सीएम योगी भी उपस्थित रहे। यह पहली बार था जब सीएम योगी पीएम मोदी के साथ किसी सार्वजनिक मंच पर थे। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि न्याय व्यवस्था में भी तकनीक का उपयोग हो।

मोबाइल फोन पर एसएमएस के जरिये डेट लेने देने की परंपरा क्यों न शुरू करें। इस तकनीक से वकीलों का काम पहले ही आसान हुआ है। खास बात ये कि इस दौरान पीएम ने न्याय व्यवस्था में सुधार लाने के लिए सीएम योगी से अपनी उम्मीदें ज़ाहिर की। उन्होंने कहा- क्यों न विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई हो। जेल से कैदियों को कोर्ट में लाना मुश्किल कार्य है, इस दौरान मार्ग में क्या-क्या होता है ये सब जानते हैं। योगी जी आएं हैं तो शायद वो सब बंद होगा। मोदी का इतना कहना था कि समारोह में बैठे सभी लोग हंसने लगे और तालियां बजाने लगी।

योगी बोले- कानून से बड़ा कोई नहीं

इस मौके पर योगी ने कहा कि कानून से बड़ा कोई नहीं होता है। इस समारोह में शामिल होना सौभाग्य की बात है। कानून का स्थान शासकों से भी ऊपर होता है। यानी कानून शासकों का शासक है। वादियों को निष्पक्ष न्याय देना सरकार का कर्तव्य है क्योंकि कानून से ही समाज चलता है। इलाहाबाद हाई कोर्ट देश का सबसे बड़ा हाई कोर्ट है। इसने कई ऐतिहासिक फैसले दिए हैं।

Share it
Share it
Share it
Top