जाति विशेष के पुलिस अधिकारियों को किया जा रहा है प्रताड़ित : अखिलेश यादव    

जाति विशेष के पुलिस अधिकारियों को किया जा रहा है प्रताड़ित : अखिलेश यादव    उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार को निलंबित करने के तुरंत बाद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह जाति विशेष के पुलिस अधिकारियों को प्रताड़ि कर रही है।

गृह विभाग के एक प्रवक्ता ने अनुशासनहीनता के लिए 2010 बैच के आईपीएस अधिकारी कुमार को निलंबित करने की जानकारी दी है। निलंबन के तुरंत बाद अखिलेश ने कहा कि एक जाति विशेष के पुलिसकर्मियों को निलंबित किया जा रहा है। उनका तबादला किया जा रहा है और यह बात हर किसी को पता है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

कुमार अपने विवादित ट्वीट के लिए सुर्खियों में हैं। उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों पर जाति विशेष के मातहतों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। कुमार ने यह भी कहा कि पुलिस महानिदेशक कार्यालय अधिकारियों को जाति के नाम पर लोगों को दंडित करने के लिए क्यों बाध्य कर रहा है? बाद में कुमार ने हालांकि एक अन्य ट्वीट में स्पष्ट किया कि उनकी टिप्पणी को गलत समझा गया। वह सरकार की पहल का समर्थन करते हैं।

ये भी पढ़ें- हार के बाद सपा में फिर रार, समीक्षा बैठक में नहीं आए मुलायम सिंह और शिवपाल यादव

अखिलेश यादव सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और उनकी पार्टी पर राजनीतिक विरोधी जाति विशेष के हितों के लिए काम करने का आरोप लगाते आये हैं। अखिलेश ने आज सपा कार्यकारिणी की बैठक से पहले संवाददाताओं के समक्ष उक्त टिप्पणी की। कुमार इस समय पुलिस महानिदेशक कार्यालय से संबद्ध हैं. वह मैनपुरी और फिरोजाबाद के पुलिस अधीक्षक रह चुके हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top