दस के सिक्के के बाद अब दस के नोट बंद होने की अफवाह

दस के सिक्के के बाद अब दस के नोट बंद होने की अफवाहनोट बंद होने की अफवाह

ओपी सिंह परिहार, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

इलाहाबाद। नोटबन्दी के बाद जिले में अफवाहों का दौर शुरू है, नोटबन्दी के बाद क्षेत्र के व्यापारियों ने 10 रुपये का सिक्के को नकली कहकर लेने से मना करने लगे। उसके बाद एक रुपये के छोटे सिक्के को बंद होने की बात बताकर जिले के बड़े व्यापारी स्वीकार करने से मना करने लगे। अफवाहों का दौर यहीं नहीं थमा आज आलम यह है की दस के नोट पर भी संकट के बादल छाने लगे हैं।

ये भी पढ़ें : RBI ने कहा- 10 रुपए का कोई भी सिक्का खोटा नहीं

रिजर्व बैंक नोटिफिकेशन के बगैर ही सरकारी कार्यालयों में भी दस की नोट लेने से कर्मचारी मना करने लगे है। बिजली बिल चुकाने गए करेली निवासी अमीर अली (28 वर्ष) को काउंटर से कर्मचारी ने दस का नोट वापस कर दिया। कर्मचारी का कहना था की शहर में यह नोट कोई नही ले रहा है। शहर के पार्को में भी दस के नोट से टिकट नहीं मिल रहा है। प्रीतम नगर निवासी जय प्रकाश सिंह हाथी पार्क में टिकट लेने के दौरान दस की नोट दिए जिसे काउंटर पर बैठा कर्मचारी लेने से मना कर दिया। यह दो मामले तो बानगी मात्र है। आये दिन तमाम लोगो को इसका सामना करना पड़ रहा है।

ये भी पढ़ें : आरबीआई ने 500 रुपये के नए नोट जारी किए

करेंसी बन्द होने के अफवाह से परेशानी शहरी इलाके से अधिक ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को हो रही है। शहरी क्षेत्र से बंदी की बात गाँव-गाँव पहुचने तक बहुत देर हो चुकी होती है और ग्रामीणों के पास रखा पैसा बेकार साबित होने लगता है। जबकि बैंक सभी तरह की करेंसी स्वीकार कर रहा है। बैंक अधिकारियों का कहना है की जब तक किसी करेंसी को बंद होने का नोटिफिकेशन जारी नही करता है तब तक कोई करेंसी अनुपयोगी साबित नही होगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहांक्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top