संगम नगरी से सस्ती विमान सेवा शुरू करने की तैयारी

संगम नगरी से सस्ती विमान सेवा शुरू करने की तैयारीफोटो : साभार इंटरनेट।

इलाहाबाद । संगम नगरी को स्मार्ट सिटी का दर्जा मिलने के बाद शहरवासियों में खुशी का माहौल चल ही रहा था, तभी शहर के बम्हरौली एयरपोर्ट से सस्ती विमान सेवा शुरू करने की घोषणा ने जिलेवासियों की खुशी को दोगुना कर दिया है।

शहर दक्षिणी से विधायक और प्रदेश के नागरिक उड्डयन व स्टाम्प निबंधन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने सस्ती विमान यात्रा की जानकारी दी। मंत्री के मुताबिक इसके लिये विभिन्न विमान कम्पनियों के प्रतिनिधियों से केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री की अध्यक्षता में आगामी 7 जुलाई को दिल्ली में बैठक बुलाई गई है, जिसमें कम्पनियों से विमान सेवा के तौर-तरीकों सहित सेवा शर्तों पर वार्ता की जाएगी। इसमें प्रदेश के सभी 16 मंडलो को 20 सीटर विमान सेवा से जोड़ने पर विचार किया जाएगा। प्रदेश उड्डयन मंत्री के मुताबिक यात्रा करने वाले को एक घण्टे तक का अधिकतम किराया ढाई हज़ार ही देना होगा। इससे इलाहाबाद से वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ, मथुरा सहित प्रदेश के अन्य मंडलो का सफ़र आसान हो जाएगा।

ये भी पढ़ें : संगम नगरी की यादों में न रह जाएं तांगे

केंद्र और प्रदेश सरकार के संयुक्त प्रयास से शुरू हो रही इस विमान सेवा में दोनों सरकार की ओर से अनुदान दिया जाएगा। मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता के मुताबिक इस सेवा को उपलब्ध कराने में विमान कम्पनियों को जो भी घाटा होगा, उसका 80 प्रतिशत केंद्र सरकार और 20 प्रतिशत प्रदेश सरकार की ओर से दिया जाएगा।

अर्धकुम्भ के पहले विमानों की ध्वनि से गुंजायमान होगा एयरपोर्ट

अर्धकुम्भ 2019 के पहले संगम नगरी के बम्हरौली गाँव में स्थित एयरपोर्ट से प्रादेशिक सेवाओं के अलावा देश के अन्य हिस्सों के लिये भी विमान सेवा शुरू कर दी जाएगी। बम्हरौली एयरपोर्ट से बंगलुरु, हैदराबाद, मुम्बई, दिल्ली सहित देश के अन्य शहरों के लिये विमान सेवा शुरू करने की योजना है।

जिलेवासियो में जगी रोज़गार की उम्मीद

वर्षों से शहर के बम्हरौली एयरपोर्ट से महानगरों के लिये ठप विमान सेवा शुरू होने की सूचना मात्र से व्यापारियों में खुशी का आलम है। शहर के बड़े व्यापारियों में व्यवसाय के विस्तार की उम्मीद जगने लगी है।

ये भी पढ़ें: कोलकाता से इलाहाबाद तक चलेंगे पानी के जहाज

बम्हरौली से शहर में ऑटो चलाने आने वाले सुरेंद्र(29 वर्ष) का कहना है कि इससे गाड़ियों की मांग भी बढ़ जाएगी, जिससे अधिक से अधिक लोगों को रोज़गार प्राप्त होगा। एक अन्य चालक विनय कुमार का कहना है कि शहर में बड़ी गाड़ियों के अलावा छोटे वाहनों की मांग भी बढ़ेगी। यह सरकार का अच्छा कदम है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top