यूपी में हर दिन बन रहे 20 हजार शौचालय

यूपी में हर दिन बन रहे 20 हजार शौचालयवित्तीय वर्ष 2017-18 में प्रदेश में 16 लाख शौचालय बनाए गए

लखनऊ। खुले में शौच सभी के लिए हानिकारक है। इसी को ध्यान में रखते हुए देश को अक्टूबर 2018 तक खुले में शौच से मुक्त करने के लिए सरकार तेजी से काम कर रही है। इसके अन्तर्गत उत्तर प्रदेश में पिछले एक महीने से रोजाना 20 हजार शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-लड़ना चाहते हैं निकाय चुनाव तो ये भी जानिए

प्रदेश प्रतिदिन शौचालय निर्माण के मामले में सबसे आगे है, हालांकि शुरुआत में शौचालय बनने की रफ्तार धीमी थी। वित्तीय वर्ष 2017-18 में प्रदेश में अब तक 16 लाख शौचालय बन चुके हैं और छह जिलों को पूर्णरूप से ओडीएफ घोषित किया गया है। वित्तीय वर्ष 2017-18 में उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा शौचालय बने हैं। प्रतिदिन शौचालय बनवाने के मामले में दूसरे नम्बर पर मध्य प्रदेश और तीसरे नम्बर पर राजस्थान है।

पंचायती राज विभाग ने प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए करीब 80 हजार राज मिस्त्रियों को प्रशिक्षित किया है, जिनमें से 40-45 हजार राजमिस्त्री विभिन्न जनपदों में शौचालय बनाने में मदद कर रहे हैं। वहीं करीब 28 हजार स्वच्छग्राहियों को भी प्रशिक्षित किया गया है जो ग्राम पंचायतों में तैनात रहकर पंचायत को खुले में शौच मुक्त बनाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। यह स्वच्छाग्रही गाँवों में लोगों को खुले में शौच नहीं जाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। अभी तक वित्तीय वर्ष 2017-18 में छह जिलों के 12 हजार गाँवों को ओडीएफ किया जा चुका है। किसी भी गाँव के ओडीएफ होने के बाद जिलास्तरीय टीम सत्यता की जांच करती है। उसके बाद मंडलस्तरीय टीम जांच करती है कि वाकई में गाँव ओडीएफ हुआ या नहीं।

उत्तर प्रदेश तेजी से ओडीएफ हो रहा है। अभी तक छह जिलों को ओडीएफ घोषित किया गया है। शुरुआत में दो-तीन हजार शौचालय ही बन रहे थे, लेकिन पिछले एक महीने से हर दिन प्रदेश में 20 हजार शौचालय बने रहे हैं। अभी तक इस वित्तीय वर्ष में करीब 16 लाख शौचालय अभी तक बन चुके हैं। प्रदेश अक्टूबर 2018 तक पूरी तरह से खुले में शौच से मुक्त होगा।
चंचल कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव, पंचायतीराज विभाग, यूपी

अब तक छह राज्य हो चुके हैं खुले में शौच से मुक्त

उत्तराखंड और हरियाणा देश के खुले में शौच मुक्त राज्यों की सूची में शामिल हो गए हैं। इनसे पहले सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, गुजरात और केरल खुले में शौच मुक्त राज्यों की श्रेणी में शामिल हो चुके हैं।

ये भी पढ़ें-सावधान ! कहीं आप बार-बार एक ही काम तो नहीं करते

प्रदेश के ये जिले हुए ओडीएफ

शामली

मुज्जफरनगर

बिजनौर

गौतमबुद्धनगर

गाजियाबाद

मेरठ

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें

First Published: 2017-10-15 13:51:22.0

Share it
Share it
Share it
Top