गणतंत्र दिवस पर योगी आदित्यनाथ करेंगे शास्त्रीय गायक उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान को सम्मानित

गणतंत्र दिवस पर योगी आदित्यनाथ करेंगे शास्त्रीय गायक उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान को सम्मानितअब शिष्यों के साथ उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान

सीएम योगी आदित्यनाथ बदायूं के मशहूर शास्त्रीय गायक उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान को गणतंत्र दिवस के अवसर पर सम्मानित करेंगे।

उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान बताते हैं, "आज भले ही मुंबई मेरी कर्मभूमि है, लेकिन मेरी जन्मभूमि तो उत्तर प्रदेश ही है।" उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का जन्म बदायूं जिले में हुआ था। खान ने अपनी प्रतिभा से देश-दुनिया में प्रदेश का नाम रोशन किया है। गुलाम मुस्तफा खान हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के रामपुर-सहसवान घराने से ताल्लुक रखते हैं। उन्हें पद‌्म भूषण, यशभारती सहित तमाम पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

लता मंगेशकर, आशा भोसले को भी दी है संगीत की तालीम

दिग्गज शास्त्रीय गायक उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान ने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के कई नामचीन गायकों को संगीत सिखाया हैं। आशा भोसले, गीता दत्त, हरीहरन, सोनु निगम, शान, आलिशा चिनॉय और एआर रहमान उनके शागिर्द हैं। 1993 में आई ‘श्रीमान आशिक’ फिल्म में ‘इस से ज्यादा दुख ना कोई’ गाने के बाद उस्तादजी ने बॉलीवुड से दूरी बना ली थी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ गायक उस्ताद गुलाम मुस्तफा

सोनू निगम के समर्थन में आए थे उनके गुरु

अजान मामले में विवादित ट्वीट करने के बाद विवादों के घेरे में आए बॉलीवुड गायक सोनू निगम को लोगों की आलोचनाओं से लेकर मौलवी के फतवों तक, सभी के गुस्से का शिकार होना पड़ा था। सोनू को तालीम देने वाले उस्‍ताद गुलाम मुस्‍तफा खान ने ट्वीट कर कहा था कि उनका शिष्य सोनू सबका सम्‍मान करता है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'मीडिया लगातार मुझसे संपर्क करके सोनू निगम के अजान मामले पर किए ट्वीट के बारे में मेरी राय जानना चाहती है। वह मेरा स्‍टूडेंट है और मेरे बेटे की तरह है। मैं उसे जानता हूं, वह किसी को चोट नहीं पहुंचा सकता। वह सबका सम्‍मान करता है।

ये भी देखिए:

Share it
Share it
Share it
Top