विधानसभा की लिफ्ट में फंसे यूपी सीएम

विधानसभा की लिफ्ट में फंसे यूपी सीएमगाँव कनेक्शन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सुरक्षा में आज तगड़ी चूक हो गई। विधानसभा में बाल संसद के बाद बाहर निकलने के दौरान मुख्यमंत्री तथा उनकी पत्नी सांसद डिंपल यादव को नीचे ला रही लिफ्ट खराब हो गई।

मुख्यमंत्री के कुछ देर तक नीचे न उतरने पर सुरक्षा एजेंसियों में खलबली मच गई। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पत्नी डिंपल यादव के साथ करीब 24 मिनट तक लिफ्ट में फंसे रहे। इस दौरान विधानसभा की तकनीकी टीम लिफ्ट को ठीक करने में लगी थी। सीएम सेकेंड फ्लोर से ग्राउंड फ्लोर पर आने के लिए लिफ्ट में सवार हुए थे। लिफ्ट वहां से चलते ही रुक गई। ऐसे में उनको बीच में उतारना भी संभव नहीं था। विधानसभा भवन के राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन सभागार में आज बाल संसद का कार्यक्रम था, जिसमें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे।

मुख्यमंत्री के लिफ्ट में फंसने के समय विधान भवन की मेंटेंनेंस के प्रभारी पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता, सहायक अभियंता तथा अवर अभियंता गायब थे। सीएम जब लिफ्ट में फंसे तो सब मौके से गायब थे। गायब अफसरों को निलंबित कर दिया गया है। सीएम के लिए विधान भवन में एक लिफ्ट आरक्षित रहती है। लिफ्ट का एनुअल मेनटेनेंस का पैसा दिया जाता है। लिफ्ट में खराबी होने पर कम्पनी थायसन क्रू के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया जा रहा है

शासन ने चार इंजीनियरों को निलंबित कर दिया है, जिसमें पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता अजय श्रीवास्तव, एक्सईएन धर्मदेव सिंह, एई धर्मेंद्र सिंह, जेई सीताराम हैं।

Tags:    India 
Share it
Top