यूपी में तेजी से पैर पसार रहा नशे का कारोबार

यूपी में तेजी से पैर पसार रहा नशे का कारोबारgaonconnection, यूपी में तेजी से पैर पसार रहा नशे का कारोबार

मैनपुरी। शाम के साढ़े-सात बज रहे थे। लखनऊ से तकरीबन 200 किमी दूर मैनपुरी का मौसम भी दोपहर की धूप के बाद कुछ ठंडा होना शुरु हुआ था।

शहर के खास चौराहे से लगी देवी रोड पर रोज़ जैसी हलचल थी। ‘गाँव कनेक्शन’ संवाददाता नशे के कारोबार की पड़ताल करने के लिए देवी रोड की गहमागहमी पर खामोशी से नज़र गड़ाए हुए थे। अभी कुछ ही वक्त बीता था कि एक अधेड़ उम्र का शख्स जो फटेहाल और नंगे पैर था, चौराहे पर खड़ा इधर-उधर देख रहा था। थोड़ी देर बाद वो शख्स सड़क किनारे खड़े एक संदिग्ध के पास पहुंचा और बिना कुछ बोले मुट्ठी में बंद कुछ नोट उसकी तरफ बढ़ा दिए। उस शख्स ने इधर-उधर देखा और नोट लेकर उसके एक पुड़िया पकड़ा दी। जब संवाददाता ने उस शख्स से बात करनी चाही तो उसने बताया कि मैनपुरी के तमाम चौराहों पर इसी तरह ख़ूफिया तौर पर नशे का सामान बहुत आसानी से मिल जाता है।

यह हाल सिर्फ यूपी का नहीं, बल्कि कई इलाकों का है। नशे का यह जाल प्रदेश के कई शहरों तक फैला हुआ है, और बीते कुछ वक्त में तेज़ी से पैर पसार रहा है। यही नहीं नशे के इस काले कारोबार में सौदा महज़ 100, 200 या 500 का नहीं बल्कि लाखों का भी होता है। जब रिपोर्टर ने नशे के कारोबार की तह तक जाने की कोशिश के दौरान एक कारोबारी से बात की तो उसने बताया कि ‘हेरोइन’ दो हजार रुपए प्रति ग्राम के भाव है।

हालांकि बीते कुछ वक्त में प्रशासन ने इस मामले में तेज़ी दिखाते हुए कई जगहों पर छापेमारी कर बड़ी मात्रा में नशीले पदार्थ ज़ब्त किये हैं।

नशे का कारोबार जिस तरह से उत्तर प्रदेश में तेज़ी के साथ फैल रहा है, ये कहना ग़लत नहीं होगा कि आने वाले वक्त में यूपी नशाखोरी के मामले में पंजाब को पिछाड़ कर देश में अव्वल नंबर पर आ जाएगा। नशे के कारोबारी मोटे-मुनाफे के चलते धड़ल्ले से नशाख़ोरी का सामान बेच रहे हैं, उन्हें इस बात से कोई सरोकार नहीं है कि नशे के इस सामान से युवा तमाम तरह की बीमारियों से घिर रहे हैं।

Tags:    India 
Share it
Top