मिलेगी स्कॉलरशिप, अब नहीं आयेगी शिक्षा में कोई रूकावट

मिलेगी स्कॉलरशिप, अब नहीं आयेगी शिक्षा में कोई रूकावटसाभार- इंटरनेट

मेधावी छात्र या छात्राएं अब अपने सपनों की ओर बिना किसी रुकावट के कदम बढ़ा सकते हैं। राष्ट्रीय स्तर पर ऐसे विद्यार्थियों के लिए आर्थिक सहायता के रूप में स्कॉलरशिप्स मौजूद हैं। ये स्कॉलरशिप कक्षा छठवीं से लेकर बारहवीं तक और साथ ही ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए भी उपलब्ध हैं।

कुछ स्कॉलरशिप्स विज्ञान और इंजीनियरिंग के सीमांत क्षेत्रों में विद्यार्थियों के प्रोत्साहन के लिए हैं तो कुछ भविष्य में शोधकर्ता के रूप में करियर बनाने की चाह रखने वालों के लिए। ऐसे विद्यार्थी जो आर्थिक या पारिवारिक परेशानियों की वजह से शिक्षा छोड़ने के लिए मजबूर हैं, वो भी इनका लाभ उठा सकते हैं। इन

स्कॉलरशिप्स के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। पूरी जानकारी नीचे दी गई है।

राष्ट्रीय स्तर

छात्रवृत्ति एसईआरबी अर्ली करियर रिसर्च अवॉर्ड 2018

विज्ञान और इंजीनियरिंग के सीमांत क्षेत्रों में अपने करियर की शुरुआती दौर में नवीनतम व दिलचस्प शोधों में लिप्त भारतीय युवा शोधकर्ताओं को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से साइंस एंड इंजीनियरिंग रिसर्च बोर्ड द्वारा रिसर्च ग्रांट हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

मानदंड साइंस व इंजीनियरिंग में पीएचडी धारक व मेडिसिन के किसी भी क्षेत्र में एमडी/एमएस डिग्री अभ्यार्थी, जिनके पास किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान, प्रयोगशाला में शोधकर्ता के पद पर कार्य करने का अनुभव हो व आयु 37 वर्ष से अधिक ना हो, आवेदन के पात्र हैं। एससी, एसटी, ओबीसी, दिव्यांगजन व महिला उम्मीदवार 40 वर्ष आयु वर्ग तक आवेदन के पात्र हैं।

आवेदन कैसे करें आवेदन ऑनलाइन माध्यम से स्वीकार किए जाएंगे। आवेदन करते समय उम्मीदवार को प्रोजेक्ट का शीर्षक (500 कैरेटकर में), प्रोजेक्ट का सारांश (3000 वर्णो में), प्रोजेक्ट का उद्देश्य, अपेक्षित आउटपुट और बजट की जानकारियों को साझा करना होगा।

छात्रवृत्ति/लाभ 3 वर्षों हेतु 50,00,000 रुपये (पचास लाख रुपये) व अन्य लाभ दिए जाएंगे।

अंतिम तिथि 14 अगस्त, 2018

आवेदन हेतु लिंक http://www.b4s.in/gaon/SEC3

ये भी पढ़ें: अगर आपको भी है छात्रवृत्ति की जरूरत तो यहां करें आवेदन

छात्रवृत्ति किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (केवीपीवाय) 2018

होनहार विद्यार्थी जो साइंस विषयों के साथ ग्रेजुएशन या इंटीग्रेटिड मास्टर्स डिग्री प्रोग्राम के प्रथम वर्ष में हैं और साइंस विषयों में शोधकर्ता के रूप में भविष्य बनाना चाहते हैं, वे विद्यार्थी भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीक विभाग (डीएसटी) की इस योजना हेतु आवेदन कर सकते हैं।

मानदंड 10वीं में साइंस विषयों में 80 फीसदी, 11वीं-12वीं (पीसीएम/बी) में 60 फीसदी अंक प्राप्त किए हों, एससी/एसटी/दिव्यांग विद्यार्थियों ने 50 फीसदी अंक प्राप्त किए हों।

आवेदन कैसे करें इच्छुक विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

छात्रवृत्ति/लाभ स्नातक हेतु 5,000 रुपये प्रति माह(तीन वर्ष हेतु) व 20,000 (वर्ष में एक बार) और मास्टर्स व इंटीग्रेटेड डिग्री हेतु 7,000 रुपये प्रति माह (दो वर्ष हेतु) व 28,000 (वर्ष में एक बार) अन्य खर्च हेतु दिए जाएंगे।

अंतिम तिथि 30 अगस्त , 2018

आवेदन हेतु लिंक: http://www.b4s.in/gaon/KVP8

ये भी पढ़ें: अगर आप पाना चाहते हैं छात्रवृत्ति तो यहां करें आवेदन

छात्रवृत्ति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम इग्नाईट अवॉर्ड 2018

12वीं कक्षा तक के विद्यार्थी जिनकी आयु 17 वर्ष से अधिक न हो और जिन्होंने अपने इनोवेटिव आइडिया को रोज़मर्रा की जिंदगी को आसान बनाने के लिए इनोवेशन को अमल में लाया हो। वे होनहार विद्यार्थी भारत सरकार के साइंस एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट से संबंधित नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन द्वारा आयोजित किए जा रहे इस अवॉर्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

मानदंड उल्लेखित क्लास व आयु वर्ग के विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं, इस अवॉर्ड में अभिभावकों द्वारा किसी तरह भी अपने बच्चों के आइडिया, इनोवेशन को प्रभावित नहीं किया जाना चाहिए। जो बच्चे स्कूल में नहीं पढ़ रहे हैं, मगर वे नए विचारों, तकनीक की मदद से अपनी इनोवेशन को साकार कर रहे हैं, वे बच्चे भी आवेदन के पात्र हैं।

आवेदन कैसे करें ऑनलाइन के अलावा डाक द्वारा इस पते पर आवेदन किया जा सकता हैः- नेशनल इनोवेशन फआउंडेशन-इंडिया ग्रामभारती, अमरापुर, गांधीनगर-माहोडी रोड, गांधीनगर-382650 गुजरात

छात्रवृत्ति/लाभ सभी उपयोगी आईडिया, इनोवेशनसं को फाइनेंशल सुपोर्ट और मेंटरिंग के साथ विद्यार्थी के नाम पेटेंट भी दर्ज होता है। इसके अलावा आने-जाने व् रहने का खर्च भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

अंतिम तिथि 31 अगस्त, 2018

आवेदन हेतु लिंक:http://www.b4s.in/gaon/DAP12

ये भी पढ़ें: गरीब छात्रों के लिए छात्रवृत्ति पाने का सुनहरा मौका, ऐसे करें आवेदन

शिक्षा छोड़ने को मजबूर विध्यार्थियों के लिए स्कॉलरशिप

किसी भी सरकारी या प्राइवेट स्कूल के छठवीं कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थी व एआईसीटीई/यूजीसी/ राज्य या केंद्र सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन व पोस्ट ग्रेजुएशन में फुलटाइम/पार्टटाइम डिग्री या डिप्लोमा कर रहे विद्यार्थी जो आर्थिक व अन्य संकट जैसे परिवार में किसी की मृत्यु, लम्बी बीमारी व नौकरी छूट जाने के चलते शिक्षा प्राप्त करने में कठिनाईयों का सामना कर रहे हों व शिक्षा छोड़ने के लिए मजबूर हों, वे "एचडीएफसी क्राइसिस स्कॉलरशिप 2018" के लिए आवेदन कर सकते हैं।

मानदंड

विद्यार्थी जिनका परिवार कोई दुर्भाग्यपूर्ण घटना का सामना कर रहा हो या पिछले दो वर्षों में कोई अन्य संकट आया हो, वे इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं।

लाभ/ईनाम

चयनित विद्यार्थी को स्कूली शिक्षा हेतु अधिकतम 10,000 व कॉलेज की शिक्षा हेतु अधिकतम 25,000 रुपए तक की राशि प्राप्त होगी।

अन्य जानकारी

आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं।

• पिछली परीक्षा की प्रमाणित अंकसूची

• एड्रेस प्रूफ की दो प्रतियाँ

• डॉक्टर नोट (यदि अस्वस्थ हैं तो)

• सैलरी स्लिप (यदि हो)

• पारिवारिक आय प्रमाण-पत्र

अंतिम तिथि

15 अगस्त, 2018 तक आवेदन किया जा सकता है।

आवेदन कैसे करें

इच्छुक विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए (आवेदन हेतु लिंक) या हमारी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर प्रक्रिया फॉलो करें।

http://www.buddy4study.com/scholarship/hdfc-educational-crisis-scholarship-2018

ऑनलाइन आवेदन हेतु महत्वपूर्ण लिंक

http://www.b4s.in/Gaon/HEC5

ये भी पढ़ें: जरूरतमंद बच्चों को यहां मिलेगी छात्रवृत्ति


Share it
Top