बालों से जुड़ी समस्याएं हैं तो आजमाएं प्याज

Deepak AcharyaDeepak Acharya   13 Jun 2019 9:15 AM GMT

रसोई में अगर प्याज ना हो तो रसोई अधूरी होती है। प्याज काटते समय आंसू निकल आना हिन्दुस्तान में एक प्रचलित कहावत भी है। प्याज को काटते समय आँसूओं के निकलने की सिलसिले को खत्म करना हो तो चिविंग गम या कोई खाद्य वस्तु चबाएं, आँसू नहीं आएंगे। प्याज को दो हिस्से में काटकर पानी में डाले फिर बारीक काटा जाए तो भी आँसूओं के निकलने के सिलसिले को रोका जा सकता है। खैर, ये तो साधारण सी बात हुई लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इसी प्याज के अनेक औषधीय गुण भी हैं।


प्याज में एक महत्वपूर्ण रसायन एलिसिन पाया जाता है जो कमाल का एंटीमाइक्रोबियल होता है। चाहे त्वचा में संक्रमण हो, बालों का झड़ना और डैंड्रफ हो जाएं तो प्याज एक बेहतर उपाय हो सकता है जिसकी मदद से इन समस्याओं से छुट्टी मिल सकती है। जब बालों के झड़ने का क्रम सामान्य से ज्यादा हो जाए तो चिंता का विषय हो जाता है। बालों का झड़ना अनेक वजहों से हो सकता है और इनमें से एक प्रमुख वजह बालों का देखभाल सही तरीके से ना होना और बालों के संपर्क में रसायन इत्यादि का आना हो सकता है। बार-बार हेयर स्टाइल बदलना, बालों पर जोर जोर से कंघी को चलाना आदि बालों को अक्सर जड़ों से कमजोर कर देता है और इनके झड़ने का क्रम शुरू हो जाता है और अक्सर जड़ से टूटे बाल पुन: नही उगते। इन कारणों के अलावा खान-पान में लौह तत्वों की कमी, लंबे समय से चली आ रही कोई बीमारी, रसायनयुक्त दवाएं, मानसिक तनाव, हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ना, विकिरण (रेडियेशन) के समझ आना और प्रसव के बाद अक्सर बालों के झड़ने की शिकायतें आती है। सिर के जिन हिस्सों पर बालों की मात्रा कम दिखाई देती है वहाँ प्याज का रस लगाकर मालिश करनी चाहिए और ऐसा तब तक किया जाए जब तक कि उस हिस्से में चमड़ी हल्की लाल ना दिखाई दे, इसके बाद इस पर हल्का सा शहद लगाकर कुछ देर रहने दिया जाए और फिर धो लिया जाए। आदिवासी मानते हैं कि ऐसा करने से बालों के पुन: उगने की संभावनांए बढ जाती हैं।

ये भी पढ़ें: नीलगिरी का तेल है बड़े काम का

बालों की जड़ों के आसपास या सिर में सफेद फ्लेक्स दिखाई दें, अक्सर सिर में खुजली सी महसूस हो, समझ लीजिए आप डैंड्रफ़ से पीडित हैं। डैंड्रफ़ होने की मुख्य वजहों में मुख्यत: भोजन में पोषक तत्त्वों की कमी, बालों की साफ सफ़ाई और देखभाल में कमी, कठोर रसायनयुक्त शैम्पू का इस्तेमाल, शैम्पू के बाद बालों की अच्छी तरह से धुलाई ना होना, खोपड़ी में रक्त प्रवाह सामान्य ना होना और सिर की बाह्य त्वचा से स्केल्स का अत्यधिक झड़ना आदि प्रमुख तो हैं ही, इसके अलावा एक सूक्ष्मजीव मलसेज्जिया फरफर (Malassezia furfur) भी है जिसकी वजह से डैंड्रफ़ होते हैं। प्याज के रस को बालों की जड़ों तक लगाया जाए और बीस मिनट बाद धो लिया जाए तो इस सूक्ष्मजीव की वृद्धि प्रभावित होती है और डैंड्रफ़ में कमी आने लगती है। प्याज का रस ना सिर्फ बालों से डैंड्रफ़ दूर करने में कारगर होता है बल्कि बालों में चमक और निखार के लिए भी प्याज का रस कारगर है।

हमारे हर्बल एक्सपर्ट डॉ दीपक आचार्य से इस तरह के नायाब नुस्खों को जानने के लिए हमारे शो 'हर्बल आचार्य' को लगातार देखते रहें और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब भी करें ताकि आपको समय-समय पर नए एपिसोड की नोटिफिकेशन मिलते रहें।

ये भी पढ़ें: अपनी रसोई में आजमाएं इन छोटे-छोटे नुस्खों को

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top