घर बनाते समय कुछ बातों का रखें ध्यान, सालों-साल तक सुरक्षित रहेगा घर

घर बनाते समय कुछ बातों का रखें ध्यान, सालों-साल तक सुरक्षित रहेगा घर

बड़ोखर खुर्द (बांदा)। गाँव हो या फिर शहर हर किसी का अपने आशियाने में रहने का सपना होता है। लेकिन उस आशियाने को बनाते समय हमें कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान भी रखना होता है, जिससे की हम अपने घर को और मजबूत और अच्छा बना सके, क्योंकि लोग लाखों रुपए खर्च करके भवन निर्माण कराता है और अगर जरा सी भी गलती हो गई तो नुकसान उठाना पड़ता है।

गाँव कनेक्शन और एमपी बिरला के साझा प्रयास से उत्तर प्रदेश के कई जिलों में कार्यक्रम के माध्यम से प्रधान और सचिव को इसके प्रति जागरूक किया जा रहा है।

बाँदा के बड़ोखर खुर्द ब्लॉक के सभागार में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में वहां के प्रधानों और सचिव को कैसे करें कम लागत में अपने घरों का निर्माण के प्रति जागरूक किया गया। कार्यक्रम में लगभग 60 प्रधान और 15 सचिव की उपस्थिति रही। इस कार्यक्रम के दौरान वहां पर मौजूद एमपी बिरला ग्रुप के तकनीकी ऑफिसर ने कई प्रकार की जानकारियां दीं।

ये भी पढ़ें : मिट्टी परीक्षण के लिए नमूना लेने में न करें ये गलतियां, वीडियो में समझिये, क्या है सही तरीका

एमपी बिरला ग्रुप के तकनीकी ऑफिसर अजय ने बताया, "अपने घरों के निर्माण के समय अगर हम तकनीकी जानकारी से अवगत हो तो हम अपने घरों को अच्छी तरीके से और कम लागत में बना सकते हैं। अधिकतर गाँव के लोग इस जानकारी के अभाव से अधिकतम लागत लगा कर भी अपने घरो क निर्माण नहीं करा पाते हैं और आगे चलकर मकानो में कुछ समस्याए आने लगती हैं।


उन्होंने आगे बताया, "घर बनाने में पानी, बालू, मौरंग और सीमेंट की गुणवत्ता का ध्यान रखना बहुत जरूरी है बालू में मिट्टी की मात्रा तीन प्रतिशत से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। नहीं तो मकान की गुणवत्ता पर असर पड़ता है। मकान बनाने के बाद मकान को भरपूर रूप से तराई होना बहुत जरुरी है वर्ना मकानों में दरार और प्लास्टर में दिक्कत होने लगती है और मसाला बनाते समय हमें उसी पानी का प्रयोग करना चाहिए जो की हम पीने में करते हैं। हमें किसी तालाब या गंदे पानी क इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, जिससे की मसाला ख़राब बने और मकानों की मजबूती कमजोर हो।"

ये भी पढ़ें : जानिए किस तरह की मिट्टी में लेनी चाहिए कौन सी फसल

इस कार्यक्रम में मौजूद मुख्य विकास अधिकारी हीरा लाल जी ने गाँव कनेक्शन और एमपी बिरला को धन्यवाद देते हुए कहा, "गाँव कनेक्शन और एमपी बिरला की तरफ से जो इस कार्यक्रम क आयोजन हुआ है। वह बहुत ही सराहनीय है इस कार्यक्रम की जानकारी के जरिए लोग अपने मकानों को मजबूत और टिकाऊ बना सकते हैं। गाँव में जो हम शौचालय और मकानों का निर्माण करते हैं, उसमे होने वाली छोटी छोटी कमियों को ध्यान में रखते हुए और बेहतर बना सकते हैं।

इस कार्यक्रम में मौजूद खंड विकास अधिकारी रजनीश ने प्रधानो को गाँव कनेक्शन और एमपी बिरला के साझा प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि यह बहुत ही उत्तम जागरूकता का अभियान है जो की शहरो में तो मिल जाती है, लेकिन गाँव में नहीं मिलती है इस कार्यक्रम से लोगों को जानकारी मिलेगी और वो मजबूत मकानों क निर्माण कर पाएंगे।

घर निर्माण से पहले रखें इन बातों का ध्यान

  • परिवार की जरूरत के हिसाब से घर का नक्शा बनवाएं
  • अच्छी गुणवत्ता के सीमेंट का इस्तेमाल करना चाहिए
  • घर निर्माण में शुद्ध पानी का इस्तेमाल करना चाहिए
  • निर्माण में बाद कम से कम 20 दिन तक तराई करना चाहिए
  • घर निर्माण से पहले किसी तकनीकी जानकर व्यक्ति से जानकारी लें

ये भी पढ़ें : मौके पर ही पता चल पाएगा दूध असली है या नकली



Share it
Top