बिहार: दहेज प्रथा व बाल विवाह के खिलाफ विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला बनेगी आज

बिहार: दहेज प्रथा व बाल विवाह के खिलाफ विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला बनेगी आजसाभार: इंटरनेट

बिहार में आज लोग दहेज प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों के खिलाफ एक दूसरे का हाथ थामकर विश्व की सबसे लंबी मानव श्रृंखला बनाएंगे। इस श्रृंखला में स्कूली बच्चे, अभिभावक, शिक्षक, अधिकारी, मंत्री से लेकर आम नागरिक भी शामिल होंगे। ये श्रृंखला लगभग 13668 किलोमीटर लंबी होने का अनुमान है। दोपहर 12 से 12.30 के बीच बनने वाली इस श्रृंखला में अनुमानित साढ़े चार से पांच करोड़ लोग शामिल होंगे।

ऐतिहासिक श्रंखला में मुख्यमंत्री भी होंगे शामिल

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में श्रृंखला में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री के साथ उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारून रशीद भी रहेंगे। जनता दल यू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह हार्डिंग रोड स्थित अपने आवास के बाहर श्रृंखला में शामिल होंगे। भाजपा के प्रदेश नित्यानंद राय भाजपा कार्यालय के समक्ष मानव कतार में शामिल रहेंगे।

ये भी पढ़ें- बिना अभिभावक बच्चे नहीं बनेंगे मानव श्रृंखला का हिस्सा : कोर्ट

ड्रोन की नजर में रहेगी मानव श्रृंखला

विश्व की सबसे लंबी मानव श्रृंखला की यादों को सहेजने के लिये सरकार ने 40 ड्रोन की सहायता से फोटो एवं वीडियोग्राफी कराएगी। इसके लिये प्रत्येक जिले से एक-एक ड्रोन मंगाया गया है।

ये भी पढ़ें- बाराबंकी में छात्रों ने एक किलोमीटर लंबी मानव श्रंखला बनाकर कहा, जाति-धर्म नहीं विकास के लिए देंगे वोट

इस बार भी मिलेगा लिम्का बुक में स्थान

बीते वर्ष शराबबंदी के समर्थन में बनाई गई मानव श्रृंखला को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड ने अपनी किताब में जगह दी। इस बार बनाई जा रही श्रृंखला को लिम्का रिकॉर्ड में शामिल करने के लिए लिम्का के अधिकारियों को आमंत्रण दिया है। मुख्यसचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा सरकार को उम्मीद है हम इस बार मानव श्रृंखला में नया कीर्तिमान कायम करेंगे और उसे लिम्का बुक में निश्चित रूप से शामिल किया जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top