बनारस के कैथी गाँव में पूर्वांचल का पहला फिल्म महोत्सव

बनारस के कैथी गाँव में पूर्वांचल का पहला फिल्म महोत्सवगाँव कनेक्शन, kaithi gaon, kaithi film mahotsav

वाराणसी। पूर्वांचल के किसी ग्रामीण क्षेत्र में पहली बार फिल्म महोत्सव होने जा रहा है। तीन दिवसीय कैथी फिल्म महोत्सव में एक ही मंच पर लोक संगीत, लोक कला, लोक गीत के प्रदर्शन के साथ ही सामाजिक मुद्दों पर आधारित नाटकों के साथ ही सामाजिक संदेश देने वाली फिल्मों का भी प्रदर्शन किया जाएगा।

वाराणसी के चोलापुर तहसील के कैथी गाँव में फिल्म सोसाइटी, नेशनल लोकरंग एकेडमी और आवाम के सिनेमा के संयुक्त तत्वाधान में कैथी फिल्म महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। पांच से सात फरवरी तक चलने वाले फिल्म महोत्सव का आयोजन कैथी के दक्षिणेश्वर महादेव छोटा शिवाला और प्राथमिक विद्यालय परिसर में किया जा रहा है। महोत्सव के लिए ग्रामीणों और बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के ललित कला के छात्रों ने गाँव की साफ-सफाई के साथ ही मंच पर लोक कला से सम्बंधित आकर्षक चित्रकारी की है।

फिल्म महोत्सव के आयोजक और सामाजिक कार्यकर्ता कैथी गाँव के वल्लभाचार्य पाण्डेय बताते हैं, ''पूर्वांचल के ग्रामीण क्षेत्र में होने वाला ये पहला कार्यक्रम है। तीन दिवसीय महोत्सव के सभी कार्यक्रम ओपन थियेटर में किये जाएंगे। महोत्सव में पुस्तक मेला के साथ ही ऐसे लोक कलाकारों को भी मंच दिया जाएगा। धोबिया नृत्य जैसे कई लोक नृत्यों के कई कलाकार ऐसे भी हैं जो अपनी आखिरी पीढ़ी के कलाकार हैं। हर दिन ऐसी ही दस प्रस्तुतियां होंगी।"

महोत्सव में अलग-अलग कई कार्यक्रम आयेजित किये जाएंगे। जनकवि धूमिल स्मृति पुस्तक प्रदर्शनी जिसमें देश भर के आठ प्रकाशक अपने स्टॉल लगाएंगे। अस्फाक उल्ला खां स्मृति दस्तावेज प्रदर्शनी इसमें ऐतिहासिक दस्तावेजों का प्रदर्शन किया जाएगा इसके साथ ही अमर शहीद शचीन्द्र नाथ बक्शी स्मृति पोस्टर प्रदर्शनी, कैथी मुक्ता काशी कला एवं छायाचित्र प्रदर्शनी जिसमें बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के ललित कला विभाग के छात्रों द्वारा बनायी पेंटिग्स और फोटो की प्रदर्शनी की जाएगी। इसके अलावा नुक्कड़ नाटक के साथ ही लोक वाद्य यंत्रों के साथ लोक नृत्यों का भी प्रदर्शन भी लोक कलाकारों द्वारा किया जाएगा। इसके साथ ही हर दिन एक फिल्म और एक डाक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखायी जाएंगी। साथ ही काव्य गोष्ठी, मूक अभिनय, कठपुतली और जादू कला का भी प्रदर्शन होगा।

कैथी गाँव में इस तरह से होने जा रहे पहले आयोजन से गांव के युवा से लेकर बुज़ुर्ग तक बहुत उत्साहित हैं। 

कार्यक्रम विवरण :

5 फरवरी 2016 (शुक्रवार):

अपराह्न 2.30 बजे दीप प्रज्वलन एवं उद्घाटन,

क्रांतिकारी शचीन्द्र नाथ बक्शी स्मृति पोस्टर प्रदर्शनी,

अमर शहीद अशफाकुल्लाह खान स्मृति दस्तावेज प्रदर्शनी,

जनकवि धूमिल स्मृति पुस्तक प्रदर्शनी एवं 

कैथी मुक्ताकाशी छाया चित्र एवं कला प्रदर्शनी।

3-5 बजे : डमरू वादन, लोक नृत्य (कहरवा, जांघिया), लोकगीत

5-6.30 बजे : परिचर्चा: 70 साल बनाम सात सवाल

6.30-7 बजे: स्थानीय सांस्कृतिक प्रस्तुति (कठपुतली का खेल)

7-10 बजे: लघु वृत्त चित्र एवं अवाम का सिनेमा (लघु फिल्म: स्थानीय कलाकारों द्वारा निर्मित लघु वृत्तचित्र तीन पहिया की प्रथम प्रस्तुति,लघु फिल्म :गंगा फीचर फिल्म: नेताजी सुभाष चन्द्र बोस)।

6 फरवरी 2016(शनिवार):

अपराह्न 2.30 बजे दीप प्रज्वलन

3 - 5 बजे: शंख वादन, जनवादी गीत, सरोद-तबला  वादन, मुंशी प्रेमचंद की कहानी पर आधारित नाटक: अमानत.

5-7.00 बजे : परिचर्चा: भारतीय क्रांति में नारियों का योगदान एवं काव्य गोष्ठी

7.00- 7.30 बजे : जादू कला का प्रदर्शन  

7.30-10 बजे तक: लघु वृत्त चित्र एवं अवाम का सिनेमा (लघु फिल्म : इन्कलाब, फीचर फिल्म : मदर इण्डिया)।

7 फरवरी 2016 (रविवार) :

अपराह्न 2.30 बजे दीप प्रज्वलन

3-4.30 बजे : भजन गायन, लोकनृत्य( हुडुप, गोंड़ऊ) नाटक: प्रेम की बोली बोल

4.30-5.30 बजे : परिचर्चा: किसानो की आत्महत्याएं और सरकारें मौन

5-6.30 बजे : संगीत मय कबीर वाणी

6.30-7 बजे : स्थानीय सांस्कृतिक प्रस्तुति (मूक अभिनय, हास्य अभिनय)

7-10 बजे तक : लघु वृत्त चित्र एवं अवाम का सिनेमा (लघु फिल्म : दशरथ मांझी, फीचर फिल्म : दो बीघा जमीन)। 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top