नेपोलियन बोनापार्ट ने अपनी प्रेमिका डिज़ायरी को लिखा था ये ख़त

नेपोलियन बोनापार्ट ने  अपनी प्रेमिका डिज़ायरी को लिखा था ये ख़तनेपोलियन बोनापार्ट और डिजायरी

(डिजायरी नेपोलियन की पहली प्रेमिका थी, जिसे नेपोलियन जीवनभर नहीं भूल सका । जब वह वाटरलू में युद्ध पर गया तो अपने कागजात यहाँ तक कि अपनी पत्नी लूसी के पत्र तक डिजायरी के पास रख गया। डिजायरी जो कि एक मामूली घराने की लड़की थी, फ्रांस की नहीं तो स्वीडन की रानी बन गई...)

प्रिये,

मैं एविग्नान बहुत ही उदास मन लेकर पहुंचा हूं क्योंकि इतनी दिनों तक मुझे तुमसे अलग रहना पड़ा है। यह यात्रा मुझे बहुत ही कठिन लगी है। मेरी प्यारी अकसर अपने प्रिय को याद करती होगी और जैसा कि उसने वादा किया है, वह उसे प्यार करती रहेगी। बस, यही आस मेरे दु:ख को कम कर सकती है और मेरी स्थिति को थोड़ा बेहतर बना देती है। मुझे तुम्हारा कोई भी पत्र पेरिस पहुंचने से पहले नहीं मिल पायेगा। यह बात मुझे प्रेरित करेगी कि मैं और तेज भागूं और वहां पहुंचकर देखूं कि तुम्हारे समाचार मेरा इंतजार कर रहे हैं। ड्यूरेंस में बाढ़ आ जाने के कारण मैं इस जगह पर जल्दी नहीं पहुंच सका। कल शाम तक मैं लियंस पहुंच जाऊंगा। मेरी प्यारी! मेरी रानी, विदा। मुझे कभी भी भूलना मत। हमेशा उसे प्यार करती रहना जो जीवन-भर के लिए तुम्हारा है।

नेपोलियन बोनापार्ट

ये भी पढ़ें- पुराना ख़त : रामधारी सिंह दिनकर ने आचार्य कपिल को लिखा था ये पत्र

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top