बहन से छेड़खानी का बदला लेने के लिए नाबालिग ने की दो हत्याएं

बहन से छेड़खानी का बदला लेने के लिए नाबालिग ने की दो हत्याएंगाँव कनेक्शन।

नई दिल्ली। सालभर पहले अपनी बहन को छेड़खानी से बचाने पहुंचे 17 वर्षीय नाबालिग को मनचलों ने चाकू से वार कर घायल कर दिया था। उस लड़के ने विगत रविवार की रात को एक घंटे के भीतर दो हत्याएं कर अपने बहन से छेड़खानी का बदला लिया और घटना स्थल से भागने में भी कामयाब रहा। टाइम्स न्यूज नेटवर्क की एक रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने अब इस मामले में नाबालिग व उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि युवक ने बहन का बदला लेने के लिए पहले से प्लान तैयार कर रखा था। इस छेड़खानी के मामले में बंद आरोपी भी पैरोल पर छुटा था, जिसकी जानकारी होने के बाद उसने इस घटना को अंजाम दिया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पुलिस ने बताया कि घटना की रात नाबालिग पूर्वी दिल्ली के खयाला पहुंचा और सालभर पहले खुद पर हमला करने वाले सुनील की पहले हत्या कर दी। सुनील इस घटना से कुछ दिन पहले ही पैरोल पर छुटकर अपने घर आया था। पुलिस ने बताया कि इस घटना को अंजाम देने में नाबालिग के एक दोस्त मनोज ने भी मदद की थी। हालांकि मनोज को इसी बीच उसके घर से फोन आया और वह चला गया। लेकिन बदले की आग में जल रहा नाबालिग इस घटना को अंजाम देने के बाद अकेले ही सेंट्रल दिल्ली के नबी करीम इलाके में अपने पड़ोस में रहने वाले कुलदीप के घर पहुंचा। यहां उसने और अपनी बहन से छेड़खनी करने वाले दूसरे आरोपी कुलदीप पर भी चाकू से 20 वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया।

ये भी पढ़ें: 13 साल पुराने मामले में ईशनिंदक की तीन महिलाओं ने की हत्या

पुलिस ने इस घटना के आरोपियों को दबोचने के बाद खुलासा किया कि ये दोनों हत्याएं रविवार की रात को की गईं। हत्या करने वाला नाबालिग अपने 22 वर्षीय दोस्त से खयाला के बस स्टॉप पर मिला और वहां से दोनों सुनील के घर पहुंचे थे। दोनों ने कुछ चर्चा करने के लिए उसे पास के पार्क में बुलाया और वारदात को अंजाम दिया।

पुलिस ने बताया कि सुनील को 5 मिनट तक बातों में उलझाए रखने के बाद उन्होंने उसपर चाकू से हमला किया। हत्या के बाद उसकी सोने की चेन भी लेकर वहां से भाग निकले। रास्ते में मनोज (नाबालिग का दोस्त) के पास परिवार से फोन आया, जिसके बाद वह घर चला गया। मनोज चला गया लेकिन नाबालिग ने प्लान में कोई फेरबदल नहीं की और अगले टारगेट के पास पहुंचा। दूसरे टारगेट कुलदीप को पड़ोसियों ने अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत करार दिया।

ये भी पढ़ें: लखनऊ में पूर्व फौजी की दो बेटियों की गला काटकर हत्या, राजधानी की कानून-व्यवस्था पर सवाल

दोनों हत्याओं के कुछ घंटों बाद पुलिस ने मनोज को हिरासत में लिया, जिसने जुर्म में शामिल होने की बात कबूल की और नाबालिग आरोपी तक पहुंचने में पुलिस की मदद की। डीसीपी(पश्चिम) विजय कुमार ने बताया कि दोनों आरोपियों को अरेस्ट कर जांच शुरू कर दी गई है और हत्या के लिए इस्तेमाल किया गया चाकू और छीनी गई गोल्ड चेन बरामद कर लिए गए हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top