Top

69,000 शिक्षक भर्ती : उत्तर प्रदेश में 31,277 सहायक शिक्षकों को मिला नियुक्ति पत्र, मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएं

69,000 शिक्षक भर्ती के मामले में लम्बे समय से चली आ रही लड़ाई के बीच सहायक अध्यापकों को बड़ी राहत मिली है। आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 31,277 सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटे और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

69,000 शिक्षक भर्ती : उत्तर प्रदेश में 31,277 सहायक शिक्षकों को मिला नियुक्ति पत्र, मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएंसहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ताली बजाकर नए शिक्षकों को दी शुभकामनाएं।

उत्तर प्रदेश में 69,000 शिक्षक भर्ती के मामले में लम्बे समय से कोर्ट के चक्कर काट रहे युवाओं को आखिरकार बड़ी राहत मिली है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज 16 अक्टूबर को 31,277 सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित किये।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा, "मैं बेसिक शिक्षा विभाग को प्रदेश के 31,277 युवाओं को नियुक्ति पत्र प्रदान करने लिए हृदय से धन्यवाद देता हूं। साथ ही नवनियुक्त शिक्षकों को बधाई देता हूं और सभी के प्रति अपनी शुभकामनाएं व्यक्त करता हूं।"

पिछले साले जनवरी, 2019 में इन अभ्यर्थियों ने आयोजित हुई प्राइमरी स्कूलों के लिए 'सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा' दी थी। 69,000 सीटों के लिए आयोजित इस परीक्षा में 4 लाख से अधिक अभ्यर्थी बैठे थे, जिसमें शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षामित्र सहित बीएड और बीटीसी पास अभ्यर्थी शामिल थे। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगा दी थी।

लम्बी लड़ाई के बाद आज सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, "हम आपको पिछले साल ही नियुक्ति पत्र देना चाहते थे, मगर मामला कोर्ट में होने की वजह से हम ऐसा नहीं कर सके, पिछली सरकार की गलती की वजह से कोर्ट ने रोक लगाई थी, मगर अब आपकी नियुक्ति पर कोई सवाल खड़े नहीं होंगे।"

"मुझे प्रसन्नता है कि हमने 69,000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है। प्रथम चरण में 31,277 नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति-पत्र प्रदान किया जा रहा है। जिस शुचितापूर्ण व पारदर्शी तरीके से यह कार्य किया गया, यह अपने आप में एक उपलब्धि है," मुख्यमंत्री ने कहा।

इससे पहले शिक्षक दिवस के अवसर (5 सितंबर, 2018) पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं माना था कि प्रदेश में प्राथमिक शिक्षकों की कमी है। उन्होंने तब प्रदेश में 97,000 प्राइमरी शिक्षकों की खाली पड़ी सीटों पर जल्द से जल्द भर्ती को पूरा कराने का आश्वासन दिया था।

लम्बे समय बाद युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा, "मैं बेसिक शिक्षा परिवार में नवनियुक्त शिक्षकों के आगमन पर सबका अभिनंदन करता हूं और शुभकामनाएं देता हूं। पिछले साढ़े तीन वर्ष के दौरान प्रदेश में बेसिक शिक्षा क्षेत्र में बहुत सारे परिवर्तन देखने को मिले हैं।"

"मगर योग्यता और क्षमता की कहीं पर उपेक्षा नहीं होनी चाहिए। आज का यह अवसर नवनियुक्त शिक्षकों की योग्यता और क्षमता को सम्मान देने का है। इन्हें टेक्नोलॉजी से परहेज नहीं है। यह शासन व्यवस्था से जुड़ने में अपने आपको गौरवान्वित महसूस करने वाले नौजवान हैं। इनके अनुभव का लाभ बेसिक शिक्षा परिषद ले सके, इसे भी जानने का एक अवसर है," मुख्यमंत्री ने कहा।

यह भी पढ़ें :

यूपी : आंगनवाड़ी केंद्रों से अब गर्भवती महिलाओं और कुपोषित बच्चों को मिलेगा सूखा राशन, समूह की महिलाएं करेंगी मदद

'हमारे लिए तो अभी तक लॉकडाउन ही लगा है', जयपुर में पर्यटन से जुड़े लोगों पर छाए बेरोजगारी के बादल


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.