Top

सीआईआई 16 से 22 अक्टूबर को आयोजित कर रहा है 'खाद्य और कृषि सप्ताह, किसानों को मिलेगी आमदनी बढ़ाने की जानकारी, ऐसे करें मुफ्त रजिस्ट्रेशन

सीआईआई के एक हफ्ते के कार्यक्रम में किसानों को आय बढ़ाने के तरीके, तकनीकी के सहारे बेहतर खेती कैसे की जाये समते कई विषयों पर जानकारी दी जायेगी। ये किसान गोष्ठियां अपने मोबाइल पर देखने के लिए लॉगिन करना होगा, जो निशुल्क है।

लखनऊ। मौजूदा दौर में कौन सी फसल की मांग है? किस फसल को लगाने से किसान ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं? कृषि के क्षेत्र में कौन सी कंपनियां नई तकनीकी और उपकरण लेकर आईं हैं? किसानों को 16 अक्टूबर से 22 अक्टूबर तक इसकी ऑनलाइन किसान गोष्ठियों के माध्यम से जानकारी दी जाएगी।

सीआईआई (भारतीय उद्योग परिसंघ) 16 से 22 अक्टूबर के बीच सीआईआई 16 से 22 अक्टूबर को आयोजित कर रहा है 'भारत-अंतर्राष्ट्रीय खाद्य और कृषि सप्ताह, किसानों को मिलेगी आमदनी बढ़ाने की जानकारी, ऐसे करें मुफ्त रजिस्ट्रेशनका आयोजन कर रहा है। देश में खेती से जुड़े संस्थानों के कृषि विशेषज्ञ, मंत्रालयों के अधिकारी, अर्थशास्त्री और व्यवसासी 'किसानों की आय कैसे बढ़ेगी' विषय पर अपनी बात रखेंगे। कोरोना को देखते हुए प्रदर्शनी से लेकर किसान गोष्ठियां, राज्यवार सम्मेलन, व्यवसायिक गतिविधियां, सब कुछ वर्चुअल (आभासी) होगा। समारोह के शुरुआती उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। समारोह को सीआईआई एग्रो एंड फूड टेक 2020 के चेयरमैन अजय एस श्रीराम, सीआईआई के डायरेक्टर जनरल चंद्रजीत बनर्जी, सीआईआई नार्थ रीजन के चेयरमैन निखिल साहनी और डिप्टी चेयरमैन नार्थ जोन अभिमन्यु मुंजाल संबोधित करेंगे।

सीआईआई (कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री, Confederation of Indian Industry) के चेयरमैन अंकित गुप्ता ने बताया, "सीआईआई एग्रो टेक इंडिया के 14 वें संस्करण को 'एग्रो एंड फूड टेक' के रूप में आयोजित कर रहा है। यह देश के किसानों के लिए एक दम नया अनुभव होगा। इसमें 12 किसान गोष्ठियां होंगी। इसमें हर फसल के सबसे बेहतरीन विशेषज्ञ अपनी बात रखेंगे तो कृषि से जुड़ी कंपनियां (खाद, बीज, मशीनरी, तकनीकी) भी होंगी। हमारी कोशिश है कि कैसे किसानों को वो बातें और जानकारियां पहुंचाई ज जो उनकी आमदनी बढ़ाने में सहायक हो।"

भारतीय उद्योग परिसंघ इस कार्यक्रम का आयोजन कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग, मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी, रसायन और उर्वरक और जल शक्ति, भारत सरकार के सहयोग से आयोजित कर रहा है।

16 से 22 अक्टूबर के बीच CII के डिजिटल प्लेटफॉर्म HIVE पर बतौर 'भारत-अंतर्राष्ट्रीय खाद्य और कृषि सप्ताह' के रूप में मनाया जा रहा है। ये आयोजन सुबह 9 बजे से शाम 7 बजे तक चलेंगे।

सीआईआई के यूपी हेड आलोक शुक्ला ने गांव कनेक्शन को बताया, "किसान भाइयों के लिए खास ये है उन फसलों की जानकारी मिल पाएगी, जो उनकी आमदनी बढ़ाने में मदद करेंगे। कैश क्रॉप (नकदी फसलें) पर जोर रहेगाष कौन सी सब्जी, कौन से फसल, गन्ने की कौन सी वैरायटी किसान लगाएंगे इन सब पर विस्तार से चर्चा होगी। इस दौरान इंडस्ट्री के लोग भी शामिल हो रहे हैं तो वो न सिर्फ अपनी डिमांड बताएंगे बल्कि भी बताएंगे वो किसानों के लिए नया क्या कर रहे हैं।"

गोष्ठियों के माध्यम से किसानों को आय बढ़ाने और नई तकनीकों की जानकारी दी जायेगी।

वो आगे बताते हैं, "जो इंडस्ट्री होती है वो अपने आसपास कई प्रयोग कर रही होती है। जैसे चीनी मिल वाले अपने आसपास के किसानों को कई सुविधाएं देते हैं लेकिन बहुत सारे किसानों को इसकी जानकारी नहीं होती है जो हम लोग इन किसान गोष्ठियों के जरिए किसान से सीधा संवाद कर उन्हें जानकारी भी देंगे ताकि 2022 तक उनकी आमदनी दोगुनी करने की दिशा में सहायक हो सके।"

सीआईआई के अनुसार कार्यक्रम में 17 अलग-अलग विषयों पर सम्मेलन होगा। इसके अलावा 12 फसल आधारित किसान गोष्ठियां होंगी। 80 वर्चुअल स्टॉल लगेंगे। वीडियो और ईमेल के माध्यम से प्रदर्शनी कर रहे लोगों से सीधे बीतचीत और मीटिंग फिक्स करने की सुविधा होगी। घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय 1000 से ज्यादा उत्पादों की प्रदर्शनी वर्चुअल लेगेगी। यह एग्जीबिटर्स भी वर्चुअल होंगे। वर्चुअली अपना प्रोडक्ट डिस्प्ले करेंगे। इसके अलावा इस फेयर में एक लाख के आसपास लोग वर्चुअल जुड़ेंगे। किसान का सोशल मीडिया पर एक्टिव होना भी बहुत बड़ा बदलाव है।

आलोक शुक्ला बताते हैं, किसानों के लिए ये पूरा कार्यक्रम मुफ्त है वो सिर्फ मोबाइल नंबर के जरिए लॉगिन कर सकते हैं एक बार जुड़ने के बाद वो कोई भी कार्यक्रम या उत्पादों की प्रदर्शनी में जाकर देख सकेंगे।

प्रदर्शनी में भाग लेने के लिए किसान https://bit.ly/2YxzH9q पर जाकर नि:शुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, यह बिल्कुल फ्री है। इसके अलावा प्रतिनिधि अपना रजिस्ट्रेशनw ww.cii.in/caft पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

कार्यक्रम में होनी वाली कृषि गोष्ठियों को आप गांव कनेक्शन के यूट्यूब चैनल पर लाइव देख सकते हैं।

कार्यक्रम में किस दिन क्या होगा, उसके लिए यह चार्ट देंखें-




Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.