बेरोजगारी के मुद्दे पर मन की बात क्यों नहीं बोलते मोदी

बेरोजगारी के मुद्दे पर मन की बात क्यों नहीं बोलते मोदीबेरोजगारी को लेकर प्रधानमंत्री पर हमला बोलते कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी

नई दिल्ली, (भाषा)। बढ़ती बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोला। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि मोदी अपने रेडियो का कार्यक्रम मन की बात में वैसे तो हर विषय पर बेबाकी से बोलते हैं, किन्तु वह बेरोजगारी के मुद्दे पर अपनी मन की बात क्यों नहीं रखते।

प्रधानमंत्री द्वारा आज अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात में अपने तीन साल के प्रदर्शन की चर्चा करने के संबंध में एक सवाल के जवाब में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री एक प्रखर और मुखर वक्ता हैं। जबरदस्त संवाद करने की उनके अंदर काबलियत है। किन्तु इतने प्रखर वक्ता अस्पृश्ता, सहारनपुर की घटना, उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार पर कभी मन की बात क्यों नहीं करते।''

यह भी पढ़ें... केंद्रीय मंत्री ने कहा, नरेंद्र मोदी दूसरे महात्मा गांधी

उन्होंने कहा, ‘‘लालकिले से संबोधन के समय तो बहुत जोरदार जुमले निकले हैं, किन्तु वह कभी बेरोजगारी पर नहीं बोलते। शुरू में प्रधानमंत्री ने जो मन की बात की थी, उसमें दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कही थी। भाजपा के घोषणापत्र में उनकी मन की बात को दोहराया गया था। मैंने आपको बताया कि दावों के विपरीत एक साल में मात्र 1.35 लाख रोजगार के अवसर सृजित हुए हैं।''

यह भी पढ़ें... ‘मन की बात’ में बोले पीएम- योग भारत की सबसे बड़ी देन, रमजान की दी शुभकामनाएं


सिंघवी ने कहा, ‘‘आईटी सेक्टर में हजारों लोगों की नौकरी खत्म की जा रही है। उन्हें पिंक स्लिप दी जा रही है। इस तरह प्रधानमंत्री पिंक क्रांति ले आए हैं। इस पर मन की बात क्यों नहीं होती। क्या यह आपके मन की बात है, उनके मन की बात नहीं है, क्या उनका मन बेरोजगारों की मन की बात से परे है।'

यह भी पढ़ें... मन की बात में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, न्यू इंडिया में सभी 125 करोड़ भारतीय महत्वपूर्ण

Share it
Share it
Share it
Top