इंटरनेट के लिए 29 फीसदी यात्री 6-6 घंटे नहीं जाते हैं शौचालय: सर्वे

Kushal MishraKushal Mishra   7 Dec 2017 5:08 PM GMT

इंटरनेट के लिए 29 फीसदी यात्री 6-6 घंटे नहीं जाते हैं शौचालय: सर्वेसभी फोटो साभार: इंटरनेट

भारतीयों के लिए अब शौचालय से ज्यादा जरूरी इंटरनेट हो गया है। कितना जरूरी हो चला है इंटरनेट, यह तस्वीर साफ हुई हाल में भारतीय यात्रियों पर किए गए एक सर्वे में। इस सर्वे में सामने आया कि 29 फीसदी लोग इंटरनेट के लिए 6 घंटे तक शौचालय न इस्तेमाल न करने की भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। ऐसे में भारतीयों में इंटरनेट को लेकर साइड इफेक्ट साफ नजर आने लगे हैं। आइये आपको बताते हैं इस सर्वे में और क्या-क्या सामने आई तस्वीर।

पहली तस्वीर: इंटरनेट के लिए किस चीज की दे सकते हैं कुर्बानी?

‘ओपेरा एंड वुडस्टे ट्रैवल सर्वे’ की ओर से किए गए इस सर्वे में भारतीय यात्रियों की आदतों पर नजर डाली गई। सर्वे में सामने आया कि इंटरनेट के लिए ऐसी क्या चीज है, जिसकी वह कुर्बानी देने को तैयार हैं। ऐसे में जो आंकड़े सामने आए, वे आपको जरूर हैरान कर देंगे।

34 फीसदी लोग इंटरनेट के लिए शराब की कुर्बानी देने को तैयार हैं और 29 फीसदी लोग 6 घंटे तक शौचालय इस्तेमाल न करने की कुर्बानी देने को तैयार हैं। इतना ही नहीं, 16 फीसदी लोग इंटरनेट के लिए नहाना छोड़ने को तैयार हैं, 14 फीसदी लोग ऐसे हैं, जो इंटरनेट के लिए पूरे दिन कुछ भी न खाने को तैयार हैं, जबकि 7 फीसदी अन्य वजहें हैं। ऐसे में इंटरनेट के लिए भारतीय नई-नई परिभाषा गढ़ रहे हैं।

दूसरी तस्वीर: यात्रा के दौरान सबसे बड़ा डर क्या?

इस सर्वे की दूसरी तस्वीर में यह पता लगाने का प्रयास किया गया कि यात्रा के दौरान एक भारतीय का सबसे बड़ा डर क्या है? तो सामने यह आया कि सबसे ज्यादा लोग यानि 34 फीसदी लोगों में यात्रा के दौरान मोबाइल नेटवर्क न मिलने का डर है।

24 फीसदी लोगों का सबसे बड़ा डर ज्यादा खर्च रहा, 12 फीसदी लोगों का सबसे बड़ा डर चोरी रहा, 9 फीसदी लोगों का सबसे बड़ा डर खराब तस्वीरें रहा। इतना ही नहीं, 8 फीसदी लोगों में स्मार्टफोन खो जाने का डर, 7 फीसदी लोगों में रोमिंग का बिल आने का डर और 6 प्रतिशत लोगों को दोस्तों-रिश्तेदारों की बेकार की कॉल आने का डर रहा।

तीसरी तस्वीर: यात्रा करते कौन साथ चाहिए?

इस सर्वे की तीसरी तस्वीर में यह पता लगाने का प्रयास किया गया कि भारतीय किसके साथ यात्रा करने चाहेंगे? इसमें यह सामने आया कि किसी महिला या पुरुष मित्र की बजाय इंटरनेट का साथ अब ज्यादा जरूरी हो चला है।

32 फीसदी लोगों ने परिवार के साथ यात्रा को अहमियत दी तो 20 फीसदी लोगों ने फोन और इंटरनेट को। जबकि 17 फीसदी ने किसी पुरुष दोस्त के साथ तो 11 फीसदी लोगों ने किसी महिला मित्र के साथ यात्रा करने को अहमियत दी। दूसरी ओर 11 फीसदी ने सहकर्मी, 6 फीसदी ने युगल और 3 फीसदी ने भाई-बहन के साथ यात्रा करने को अहमियत दी।

चौथी तस्वीर: मोबाइल इंटरनेट इस्तेमाल की वजह?

सर्वे में मोबाइल इंटरनेट इस्तेमाल की वजहों को जानने का आकलन किया गया। इसमें सामने आया कि भारतीय यात्रियों के लिए दुनिया को यह बताना भी काफी जरूरी हो गया है कि वह कहां यात्रा कर रहा है।

इंटरनेट के इस्तेमाल करने की वजहों पर ध्यान दें तो सामने आया कि 32 फीसदी लोगों ने सोशल मीडिया पर अपडेट को तवज्जो दी तो 28 फीसदी लोगों ने जगह के बारे में जानकारी जुटाने को। इसके अलावा 17 फीसदी ने जीपीएस इस्तेमाल करने, 16 फीसदी ने दोस्तों और परिवार के साथ चैट करने, 4 फीसदी ने संगीत सुनने में इंटरनेट इस्तेमाल करने को तवज्जों दी और 3 फीसदी ने अन्य कारण गिनाए। इससे यह भी पता चला कि इंटरनेट में ज्यादा डाटा की अहमियत बढ़ी है।

पांचवीं तस्वीर: यात्रा के दौरान अगर इंटरनेट न मिले तो क्या करेंगे?

यात्रा के दौरान अगर इंटरनेट न मिले तो क्या करेंगे, इस सर्वे में यह भी जानने का प्रयास किया गया। ऐसे में सामने यह आया कि कुछ ही भारतीय हैं, जो बिना इंटरनेट के भी खुश हैं, बाकि इंटरनेट को पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं।

इंटरनेट कनेक्शन न हो तो, एक तरफ जहां 32 फीसदी लोगों ने ऑफलाइन करने की बात कही तो दूसरी तरफ 29 फीसदी लोगों ने वाई-फाई तलाश करने की बात कही। जबकि 14 फीसदी संयम बनाए रखने की कोशिश करने, 8 फीसदी ने दोस्त का मोबाइल इस्तेमाल करने और 2 फीसदी ने साइबर कैफे इस्तेमाल करने पर सहमति जताई। वहीं 15 प्रतिशत ने अन्य कारण गिनाए।

ग्रामीण भारत में महिलाओं में बढ़ा इंटरनेट का उपयोग

ग्रामीण भारत में इंटरनेट उपभोक्ताओं में महिलाओं का अनुपात बहुत ही कम, दस में से तीन है, यानी दस इंटरनेट उपभोक्ताओं में से केवल तीन महिलाएं होती हैं। गूगल की विपणन प्रमुख दक्षिण पूर्व एशिया सपना चड्ढा ने बताते हैं, “दो साल पहले यह अनुपात दस में एक का था, लेकिन बीते दो साल में इसमें काफी बदलाव आया है और अब ग्रामीण भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाले हर दस व्यक्तियों में से तीन महिलाएं होती हैं।“ गूगल के अनुसार भारत में इंटरनेट उपयोक्ताओं की कुल संख्या 40 करोड़ से अधिक है जिनमें से 33 करोड़ तो मोबाइल फोन के जरिए ही इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं।

यह भी पढ़ें: वीडियो : ऐसे निकालें इंटरनेट से खसरा खतौनी

उत्तर प्रदेश के पयर्टन स्थलों पर तैनात होंगे अंग्रेजी बोलने वाले पुलिसकर्मी

आधार से लिंक करने की समयसीमा 31 मार्च 2018 तक बढ़ाएगी केंद्र सरकार, सुप्रीम कोर्ट को किया सूचित

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top