अलग गोरखालैंड की मांग करने वालों को मिला इस सिंगर का साथ, सरकार के खिलाफ लिखेंगे गीत

अलग गोरखालैंड की मांग करने वालों को मिला इस सिंगर का साथ, सरकार के खिलाफ लिखेंगे गीतप्रशांत तमांग इंडियन आइडल 2007 के विनर रह चुके हैं

लखनऊ। अलग गोरखालैंड की मांग रखने वाले लोगों को गायक प्रशांत तमांग का समर्थन मिला है। प्रशांत तमांग इंडियन आइडल 2007 के विनर रह चुके हैं और उनका मानना है कि उनकी सफलता में पहाड़ के लोगों का बहुत बड़ा योगदान है।

प्रशांत जल्द ही अपने हिंसाग्रस्त दार्जिलिंग में अलग गोरखालैंड की मांग करने वाले के लिए एक गीत लिखेंगे और उसे अपनी आवाज देंगे।

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान प्रशांत तमांग ने कहा, मुझे बहुत बुरा महसूस हो रहा है। क्या दार्जिलिंग कोई वार ज़ोन है? या फिर बॉर्डर है? तो फिर क्यों आर्मी और सेंट्रल फोर्स यहां भेजी गई हैं? गोरखालैंड के लिए स्ट्रगल रुक नहीं सकता। और क्या आप उस वक्त चुप रह सकते हैं जब आपकी जन्म भूमि पर लाठीचार्ज हो रहा हो?

ये भी पढ़ें: किसानों की टूटती आस और घुटती सांस को समझना होगा

तमांग का गोरखालैंड प्रदर्शन के साथ संबंध नया नहीं है। जब वे सिंगिंग रियलिटी शो से जुड़े थे। उनके लिए उन्मादी प्रचार एक अलग राजनीतिक मुद्दा बन गया था जो अलग गोरखालैंड की मांग को सक्रिय कर रहा था।

अब एक दशक से, कई नेपाली फिल्में और दो अल्बम रिलीज करने के बाद तमांग नए राज्य की मांग के लिए लोगों को सपोर्ट कर रहे हैं।


तमांग कोलकाता पुलिस बल में कार्यरत रह चुके हैं और वह ऑर्केस्टा में भी भाग ले चुके हैं। वहां उनके कलीग्स ने उनके टैलंट को पहचाना और इंडियन आइडल 3 के ऑडिशन के लिए उनपर दबाव बनाकर भेजा। प्रशांत कहते हैं कि जब वे फाइनल में पहुंचे तो पहाड़ के लोगों ने मिलकर उनके लिए वोट किया। इसके लिए गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के प्रमुख बिमल गुरुंग ने पैसा भी इकट्ठा किया था।

ये भी पढ़ें: जेटली जी, काजल-लिपस्टिक से ज्यादा जरूरी था सेनेटरी नैपकिन टैक्स फ्री रखते ...

एफएम चैनल के आरजे ने की थी नस्लवादी टिप्पणी

प्रशांत के इंडियन आइडल जीतने के बाद भी एक कंट्रोवर्सी हो गई। एक एफएम चैनल के आरजे ने उन्हें चौकीदार कह दिया था। निशाना उनकी गोरखा पहचान थी। उस आरजे ने तमांग को कहा कि अगर चौकीदार इंडियन आइडल बनने लगेंगे तो चौकीदारी कौन करेगा? और इसके बाद सिलीगुड़ी में में हजारों लोग सड़क पर आ गए। सरकार ने स्थिति संभालने के लिए आर्मी और बीएसएफ को बुला लिया।

ये भी पढ़ें: डकैत ददुआ से लोहा लेने वाली ‘शेरनी’ छोड़ना चाहती है चंबल, वजह ये है

रेडियो चैनल को एक हफ्ते के लिए बैन कर दिया गया और आरजे के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी कर दिया था।

Share it
Top