आईएएस अनुराग के शव का पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टरों से हुई पूछताछ  

आईएएस अनुराग के शव  का पोस्टमार्टम करने वाले डाक्टरों से हुई पूछताछ  केजीएमयू भवन।

लखनऊ। आईएएस अनुराग तिवारी की रहस्मय मौत के मामले में गठित एसआईटी टीम ने शनिवार दोपहर केजीएमयू पहुंची। वहां टीम ने आईएएस का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों से लखनऊ के सीएमओ के सामने बंद कमरे में पूछताछ की। एसआईटी को लीड कर रहे सीओ हजरतगंज अवनिश मिश्रा के मुताबिक, पोस्टमार्टम टीम में शामिल पांचों डॉक्टरों से बातचीत कर उनका बयान दर्ज कराया गया। हालांकि पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट में काफी समय से संदेह था, जिसके चलते ही डॉक्टरों से घंटों पूछताछ हुई है। वहीं एसआईटी में शामिल एक दूसरी टीम कर्नाटक कैडर के अनुराग तिवारी के तैनाती स्थान बेंगलुरु के लिए शनिवार देर रात रवाना हो गई।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि, एसआईटी टीम पोस्टमार्टम में शामिल सभी डॉक्टरों के बयान दर्ज करने के लिए केजीएमयू पहुंची थी, वहां पैनल में शामिल पांच डॉक्टरों से मौत की असल वजह जानने का प्रयास किया गया। साथ ही उन्होंने आगे बताया कि, डॉक्टरों के बयान के आधार पर कुछ स्थिति स्पष्ट हो पायेगी की अनुराग की मौत का असल समय क्या था और मौत से एक रात पहले उन्होंने भोजन में क्या खाया था?

ये भी पढ़ें : केजीएमयू से फोरेंसिक लैब ने मांगा आईएएस अनुराग के दिल का आधा हिस्सा

जांच टीम का इस बयान के पीछे मकसद केवल आईएएस अनुराग तिवारी की मौत के रहस्य से पर्दा उठाना है, जिस पर चारों ओर से सवाल उठाये जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर एसआईटी में शामिल दूसरी टीम बेंगलुरु के लिए शनिवार देर रात ट्रेन द्धारा रवाना हो गई है। वहां टीम ने जांच के लिए बेंगलुरु पुलिस से भी मदद मांगी है। पुलिस की मानें तो, कर्नाटक में उन सबूतों को एकत्र किया जायेगा, जिस पर मृतक का संदेह कर रहा है।

इलाज की पर्ची से बीमारी होगी स्पष्ट

पुलिस की मानें तो, आईएएस अनुराग तिवारी अपनी किसी बीमारी का ईलाज बेंगलुरु के एक अस्पताल में करा रहे थे, जिसकी जानकारी पुलिस को नहीं है। पुलिस ने कर्नाटक सरकार से उनकी दवाईयों की पर्ची मांगी है, जिसे क्लेम के लिए उन्होंने अपने विभाग में लगाया था।

ये भी पढ़ें : लखनऊ में मीराबाई गेस्टहाउस के बाहर संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाए गए आईएएस अफसर अनुराग तिवारी

साथ ही पुलिस उनके उन कागजों को भी एकत्र करने का प्रयास करेगी, जिसे लेकर पीड़ित परिवार ने अनुराग की हत्या होने की आशंका जताई है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top