प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में की मधुमक्खी पालक निमित सिंह की तारीफ

शहद उत्पादक निमित सिंह गोरखपुर के रहने वाले हैं, जिन्होंने बी.टेक करने के बावजूद इंजीनियरिंग के क्षेत्र में करियर न बना कर शहद उत्पादन को प्राथमिकता दी। आज वह कामयाबी के साथ अपना उद्यम चला रहे हैं और कई लोगों को रोजगार भी दे रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में की मधुमक्खी पालक निमित सिंह की तारीफ

मन की बात रेडियो कार्यक्रम के माध्यम से राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के एक युवा उद्यमी निमित सिंह का जिक्र किया, जो शहद उत्पादन कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने मन की बात में कहा, "आज, शहद उत्पादन में इतने अवसर हैं कि पेशेवर शिक्षा प्राप्त करने वाले युवा भी शहद बनाना शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के निमित सिंह ऐसे ही एक व्यक्ति हैं।"

पीएम मोदी ने बताया, "उन्होंने बीटेक की शिक्षा प्राप्त की है और उसने न सिर्फ शहद का उत्पादन शुरू किया है, बल्कि लखनऊ में गुणवत्ता जांचने की प्रयोगशाला भी स्थापित की है। वह अपने उद्यम से अच्छी कमाई कर रहे हैं और दूसरे राज्यों के किसानों को शहद बनाने का प्रशिक्षण भी देते हैं।"

2016 में सिंह ने 50 बक्सों के साथ शहद उत्पादन की शुरुआत की थी और लखनऊ के कई स्थान पर अपना उत्पाद बेचते हैं। निमित सिंह के बाराबंकी जिले के शहद उत्पादन केंद्र की उत्पादित शहद www.slowbazaar.com पर उपलब्ध है, जहां अलग अलग तरह के फ्लेवर में शहद खरीदने का विकल्प उपलब्ध है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निमित सिंह की उपलब्धियों पर ध्यान देने और मन की बात रेडियो शो में उनका उल्लेख करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर पर लिखा, "आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने @mannkibaat में आज Honey & Bee Wax उत्पादन के क्षेत्र में गोरखपुर के श्री निमित सिंह की लगनशीलता को सराहा है। श्री निमित के प्रयास असंख्य युवाओं को स्वरोजगार व रोजगार सृजन हेतु प्रेरित करेंगे। आभार प्रधानमंत्री जी!"

गाँव कनेक्शन से बात करते हुए, निमित सिंह ने बताया कि यह उनके पिता थे जिन्होंने उन्हें शहद उत्पादन का सुझाव दिया था। "मैंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी, लेकिन नौ से पांच की नौकरी से कोई लेना-देना नहीं था। मैं शुरू से कुछ अपना करना चाहता था। मेरे पिता, जो एक सेना से रिटायर हैं ने मुझे मधुमक्खी पालकों के बारे में बताया, जब वो पंजाब में तैनात थे," निमित ने याद किया।

बाराबंकी जिले में निमित सिंह द्वारा उत्पादित शहद https://www.slowbazaar.com/ पर उपलब्ध है, जहां पर आप कई तरह के फ्लेवर के शहद चुन सकते हैं।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.