स्वच्छता ही सेवा अभियान में 80 लाख ने हिस्सा लिया

स्वच्छता ही सेवा अभियान में 80 लाख ने हिस्सा लियास्वच्छता ही सेवा अभियान

नई दिल्ली (आईएएनएस)। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि पिछले महीने की 15 तारीख को आरंभ हुए स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के दौरान देशभर में स्वच्छता का एक बड़ा अभियान चलाया गया, जिसमें देश के शहरी हिस्सों में 80 लाख से अधिक लोगों ने भाग लिया है। उन्होंने कहा कि साढ़े तीन लाख से ज्यादा अभियान चलाए गए हैं।

पुरी ने देश की राजधानी में सीवर की सफाई के दौरान सफाई कर्मचारियों की मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त किया है। रविवार को दिल्ली के इंडिया गेट में सीपीडब्ल्यूडी द्वारा आयोजित स्वच्छता ही सेवा अभियान के दौरान उन्होंने सीवरों की मशीनों द्वारा सफाई की आवश्कता पर बल दिया।

ये भी पढ़ें : खराब सफाई व्यवस्था के कारण बहुत से पर्यटक भारत नहीं आते : जावड़ेकर

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा आयोजित इस समारोह में स्वच्छता, चित्रकला प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार देने के बाद उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए पुरी ने असुरक्षित और मानव द्वारा सीवरों की सफाई किए जाने पर गहरी चिंता व्यक्त की।

पुरी ने कहा कि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मंगलवार को मुलाकात कर इस इस मामले पर बात की थी। उन्होंने कहा कि उनके मंत्रालय द्वारा दिल्ली के तीन निगमों को स्वीकृत की गई 300 करोड़ रुपये की राशि का एक बड़ा हिस्सा मशीनों द्वारा सीवर सफाई के कार्य में खर्च किया जाएगा। पुरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली विश्व के बड़े शहरों में है। इसे इसके स्टेटस के अनुरूप स्वच्छ करने की आवश्यकता है।

ये भी पढ़ें : स्वच्छता अभियान में सोनभद्र रच रहा नए कीर्तिमान

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के महानिदेशक अभय सिन्हा ने कहा कि संगठन कार्बन फूटप्रिंट को कम करने के लिए ऊर्जा आधारित निर्माण सुनिश्चित करने के लिए नई निर्माण टेक्नोलॉजी पर बल दे रहा है, ताकि स्वच्छ और सुरक्षित पर्यावरण बना रहे। उन्होंने बताया कि सीपीडब्ल्यूडी ने लगभग 20 करोड़ रुपये की लागत से महानदी कोल फील्ड में 1200 शौचालय बनवाए हैं। हरदीप सिंह पुरी ने स्वच्छता पर अपने विचारों को रंगों के माध्यम से व्यक्त करने वाली दिव्यांग छात्रा आकांक्षा को पुरस्कृत किया।

ये भी पढ़ें : स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 : हमारा शहर साफ है या नहीं यह अब शहरवासी ही बताएंगे

Share it
Top