यूपी के सरकारी अस्पतालों में शाम को भी चलेगी ओपीडी, मरीजों को मिलेगी राहत

शाम की ओपीडी में दिखाने के लिए मरीजों को शुल्क देना होगा, सुबह की ओपीडी में आने वाले मरीज को शाम की ओपीडी में विशेषज्ञ डक्टर के पास रेफर किए जाने के बाद 10 रुपए का पर्ची बनवानी होगी

यूपी के सरकारी अस्पतालों में शाम को भी चलेगी ओपीडी, मरीजों को मिलेगी राहत

लखनऊ। यूपी के सरकारी अस्पतालों में मरीजों का दबाव और डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार नए कदम उठ रही है। इस समस्या के निदान के लिए उत्तर प्रदेश के अस्पतालों में शाम को भी बाह्य रोगी विभाग(ओपीडी) की सुविधा देने की तैयारी है। इसे पहले कानपुर के उर्सला अस्पताल में प्रयोग के तौर पर चलाया जाएगा, जिसके बाद पूरे प्रदेश में यह सुविधा मिलने लगेगी। विभागीय निदेशकों और अधीक्षकों के साथ हुई बैठक में यह फैसला लिया गया है, जिसका संचालन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के सहयोग से होगा।

ये भी पढ़ें:'जब बाहर से ही खरीदनी है दवाई, तो प्राइवेट अस्पतालों में क्यों न कराएं इलाज '


यूपी के डीजी हेल्थ डॉ. पद्माकर सिंह ने बताया, " मरीजों को बेहतर सुविधा देने के लिए सरकारी अस्पतालों में शाम के समय ओपीडी को संचालित किया जाना है। पहले चरण में इसे कानपुर में चलाया जाएगा। अच्छे ढंग से संचालित होने के बाद इसे पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा। इसके लिए 11 निदेशकों की एक टीम गठित की गई है, जो सारी व्यवस्था को देखेगी।"

ये भी पढ़ें: दस मिनट के अंदर सेंसर बताएगा किस वजह से आपको हुआ हार्ट अटैक


शाम की ओपीडी के मरीजों को शुल्क देना होग। सुबह की ओपीडी में आने वाले मरीज को शाम की ओपीडी में विशेषज्ञ डक्टर के पास रेफर किए जाने के बाद 10 रुपए का पर्ची शुल्क देना होगा, जबकि बिना रेफर हुए सीधे जाने पर मरीज को 200 रुपए देने होंगे।

ये भी पढ़ें: समय पर सही जानकारी ही ब्लड कैंसर का उपचार

ओपीडी में हर दिन एक विशेषज्ञ डॉक्टर की तैनाती होगी। एक दिन में 20 मरीज को देखने का प्रावधान बनाया गया है। एक मरीज को बेहतर इलाज मिल सके इसके लिए मरीजों की संख्या कम रखी गई। अक्सर देखने में आता है कि मरीजों की संख्या ज्यादा होने से डॉक्टर उसे सही से देख नहीं पाता है। ओपीडी में डॉक्टर के साथ-साथ एक फार्मासिस्ट और वार्ड ब्वॉय भी रहेगा। इसे दौरान जांच और दवाएं मुफ्त में दी जाएंगी।


प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्घार्थनाथ सिंह ने बताया, " उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को और मजबूत किया जा रहा है। आम लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने की कोशिशें जारी हैं। इसके लिए प्रदेश सरकार नया प्रयोग करने जा रही है। अब आईएमए के सहयोग से प्रदेश के बड़े सरकारी अस्पतालों में शाम ओपीडी चलेगी। ओपीडी में मरीजों से मिलने वाली फीस से डॉक्टरों को भुगतान किया जाएगा।"

ये भी पढ़ें: निजी अस्पतालों को मात दे रही यह पीएचसी, ऑक्सीजन प्लांट और न्यू बाेर्न केयर यूनिट जैसी हैं सुविधाएं


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top