गन्ने की खेती को नई पहचान दिलाएगा “रैलिस समृद्धि कृषि अभियान”

गन्ने की खेती को नई पहचान दिलाएगा “रैलिस समृद्धि कृषि अभियान”रैलिस इंडिया के सीईओ रवि शंकर

लखनऊ। महाराष्ट्र में गन्ने की खेती को बढ़ावा देने के लिए टाटा कंपनी की उपक्रम रैलिस इंडिया ने ' रैलिस समृद्धि कृषि' अभियान शुरु किया है। इस अभियान के अंतर्गत राज्य में गन्ना किसानों को गन्ने की बुवाई व इसके व्यापार के लिए विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी।

ये भी पढ़ें-मछली पालन के लिए मिलता है 75 फीसदी तक अनुदान, ऐसे उठाएं डास्प योजना का फायदा

इस अभियान के बारे में रैलिस इंडिया के सीईओ वी शंकर बताते हैं,'' रैलिस इंडिया भारतीय किसानो के साथ बीते 165 वर्षों से काम कर रही है। हमारी कंपनी का यह उद्देश्य रहा है कि हम किसानों को उन्नत कृषि तकनीकों से जोड़ सकें ताकि उन्हें समाज में उन्हें बड़ा नाम मिल सके।'' उन्होंने आगे बताया कि किसानों की बेहतरी के लिए हमने 'दृष्टि' 'समाधान और 'संपर्क' मोबाइल ऐप भी बनाए हैं, जो खेती के नए तौर-तरीकों में किसानों को जानकारी प्रदान करते हैं।

महाराष्ट्र के कई जिलों में रैलिस इंडिया सब्जी, दाल, कपास व गन्ने की फसल की आधुनिक खेती करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रही है।

ये भी पढ़ें-यूरोपीय देशों की तरह कब बढ़ेगी भारत में आलू की उत्पादकता

महाराष्ट्र में गन्ना किसानों को इस खास अभियान से मिल रही मदद के बारे में आय एवं विकास मंत्री (महाराष्ट्र) चंद्रकांत पाटिल बताते हैं, "गन्ना भारत की सबसे बड़ी व्यवसायिक खेती में से एक है। यह कुल मिलाकर 52.84 लाख हेक्टेयर कृषि भूमि में की जाती है। आज किसानों को गन्ने की खेती करने के नए तौर तरीके बताने का यह प्रयास गन्ना उत्पादन में और अधिक तेज़ी लाएगा।''

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top