खून के आंसू रोती है ये मासूम, पिता ने पीएम मोदी से लगाई मदद की गुहार

खून के आंसू रोती है ये मासूम, पिता ने पीएम मोदी से लगाई मदद की गुहारइलाज के लिए अस्पताल में भर्ती मासूम अहाना।

लखनऊ। आपने खून के आंसू रुलाने की कहावत तो सुनी ही होगी। लेकिन हैदराबाद की एक बच्ची सचमुच खून के आंसू रोती है। यह बच्ची मात्र 3 साल की है। तीन साल की अहाना अगर रोती है तो उसकी आंखों से पानी के साथ-साथ खून भी आता है। जिसे देख घरवाले और डॉक्टर दोनों परेशान हैं। अहाना का इलाज कर रहीं डॉक्टर सिरीषा ने बताया कि आहना को हेमाटिड्रोसिस नाम की बीमारी है। इसमें पसीने आने और आंसू आने पर खून भी आता है। डॉक्टर ने बताया कि इलाज के बाद आहना की हालत पहले से तो बेहतर है लेकिन अभी भी गंभीर है। ऐसे में अहाना के घरवालो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री से मदद मांगी है।

ये भी पढ़ें- बेटी को गले में बांध रिक्शा चलाकर आए थे सुर्खियों में, फिर तन्हा हुई मासूम, पिता की मौत

आहना के पिता मोहम्मद अफजल ने कहा कि जब वह डॉक्टर से पूछते हैं कि क्या इसका कोई स्थाई इलाज है तो वे कुछ नहीं कहते यानी उसके पास इसका कोई जवाब नहीं होता। अफजल ने कहा, ‘मैं सीएम केसी राव और मोदी जी से मदद की गुहार लगाता हूं।’

आंखों और शरीर के कई हिस्सों से निकलता है खून

खबरों के अनुसार, अहाना जब तकलीफ में होती है तो उसकी आखों से खून निकलने लगता है। यही नहीं इस दौरान उसके कान, नाक मुंह और यहां तक कि गुप्तांग से भी खून बहने लगता है। इस मामले में दर्दनाक बात यह है कि अहाना की इस समस्या के बारे में अब तक डॉक्टरों को भी ठीक से कुछ समझ नहीं आ रहा है। इस मामले में डाक्टर संभावना जता रहे हैं कि कि आहना को शायद ‘हेमैटोड्रोसिस’ नाम की दुर्लभ बीमारी हो सकती है। इस बीमारी में शरीर के विभिन्न हिस्सों से पसीने या आंसू आदि की जगह खून बहने लगता है।

ये भी पढ़ें- साइकिल से ही ले जाना पड़ा मासूम भांजी का शव

स्थानीय डॉक्टरों के अनुसार, अहाना के माता-पिता अब तक उसके इलाज पर 1.5 लाख रुपए खर्च कर चुके हैं लेकिन उसकी बीमारी के सही कारणों तक पहुंचने के लिए और जांच की जरूरत है। इसलिए उन्होंने सीएम केसी राव और मोदी जी से मदद की गुहार लगाई है। वहीं इस मामले में

वहीं इस मामले में आईपीजीएमआर (इंस्टीटयूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च) ने बताया है कि मामला गंभीर है। यह अत्यंत दुर्लभ बीमारी है। डॉक्टारों ने बताया कि प्राथमिक कारण केशिका रक्त वाहिकाओं का टूटना है जो पसीना ग्रंथियों को खाती है जिससे उन्हें पसीने के साथ रक्त निकलने लगता है। सही इलाज होगा तो इसका ईलाज संभव है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top