आज लोकसभा में पेश होगा तीन तलाक बिल

आज लोकसभा में पेश होगा तीन तलाक बिल

साभार: इंटरनेट।

तीन तलाक को लेकर आज लोकसभा में बिल पास किया जाएगा। लोकसभा में एनडीए के संख्याबल को देखते हुए इस तीन तलाक बिल को पास कराने में सरकार को ज्‍यादा मुश्किल नहीं होगी। लोकसभा से पास होने के बाद बिल राज्यसभा में जाएगा। इस बिल को पिछले हफ्ते ही केंद्रीय कैबिनेट की मंज़ूरी मिली थी।

इससे पहले बुधवार को सरकार ने बताया कि एक बार में तीन तलाक के खिलाफ विधेयक तैयार करने में मुस्लिम संगठनों से कोई विचार-विमर्श नहीं किया गया। यह मुद्दा लैंगिक न्याय, लैंगिक समानता और महिलाओं की गरिमा की मानवीय अवधारणा से जुड़ा हुआ है जिसमें आस्था और धर्म का कोई संबंध नहीं है। सरकार से प्रश्न पूछा गया था कि क्या उसने विधेयक का मसौदा तैयार करने में मुस्लिम संगठनों के साथ विचार-विमर्श किया है जिस पर कानून राज्य मंत्री पीपी चौधरी ने ना में जवाब दिया।

ये भी पढ़ें- तीन तलाक का दर्द: ‘मैं हलाला की जलालत नहीं झेल सकती थी’

एक अन्य प्रश्न के लिखित उत्तर में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ''सरकार का मानना है कि यह मुद्दा लैंगिक न्याय, लैंगिक समानता और महिलाओं की गरिमा की मानवीय अवधारणा से जुड़ा हुआ है और इसमें आस्था और धर्म का कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने एक बार में तीन तलाक को अवैध करार दिया, लेकिन इसके बाद भी ऐसे 66 मामले सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें- बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में एमए प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा में पूछे गए तीन तलाक और हलाला को लेकर सवाल

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बीते 15 दिसंबर को 'मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक को मंजूरी प्रदान की। इस विधेयक में तलाक देने वाले पति के लिए तीन साल की जेल और जुर्माने का प्रवधान किया गया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top