रोहतक में निर्भया जैसी दरिंदगी, इंसानियत फिर शर्मसार

रोहतक में निर्भया जैसी दरिंदगी, इंसानियत फिर शर्मसारगाँव कनेक्शन।

रोहतक। निर्भया मामले में फैसला सुनाए अभी कुछ दिन भी नहीं हुए कि एक बार फिर इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना को रोहतक में अंजाम दिया गया है। कई दिनों से लापता युवती के मृत पाए जाने के बाद आज पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जो खुलासा हुआ है वो समाज व सरकार को झकझोर के रख देने वाली है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डाक्टरों ने स्पष्ट किया है कि युवती को अगवा करके न केवल उसके साथ गैंगरेप किया गया, बल्कि उसके प्राइवेट पार्ट्स को भी नुकसान पहुंचाया गया। इतना ही नहीं हैवानियत की हदें पार करते हुए युवती की पहचान मिटाने के लिए उसकी खोपड़ी पर दरिंदों ने गाड़ी चढ़ा दी। यह वारदात 9 मई को घटी और इसका खुलासा 11 मई को हुआ जब युवती की क्षतविक्षत शव रोहतक के आईएमटी क्षेत्र के एक खाली प्लॉट में पाया गया। टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार युवती का पोस्टमॉर्टम करने वाले फरेंसिक एक्सपर्ट डॉ. एसके धतरवाल ने बताया कि विक्टिम का गैंगरेप करके किसी धारदार हथियार से उसके प्राइवेट पार्ट्स को नुकसान पहुंचाया गया है। बाद में आरोपियों ने उसकी पहचान खत्म करने के लिए उसके सिर पर गाड़ी चढ़ा दी।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

फरेंसिक टीम का कहना है कि गैंगरेप के बाद युवती को तड़पा-तड़पाकर उसके शरीर को क्षतविक्षत किया गया है। कम से कम 7 लोगों ने उससे दुष्कर्म किया। रिपोर्ट के मुताबिक युवती के खोपड़ी की हड्डियां इस कदर टूटी हुई हैं कि पूरी आशंका है उस पर गाड़ी चढ़ाई गई थी।

9 मई को हुई थी लापता

सोनीपत में रहने वाली युवती के माता-पिता ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट 9 मई को दर्ज कराई थी। युवती की लाश 11 मई को रोहतक के आईएमटी क्षेत्र के एक खाली प्लाट से मिली। शव के पहचान के लिए गुमशुदगी दर्ज कराने वाले युवती के माता-पिता को रोहतक बुलाया गया, जिन्होंने अपनी पुत्री के रूप में पहचान की। परिवार के लोगों ने अपने एक पड़ोसी पर इस घटना का आरोप लगाया है। साथ ही उसके लिए मौत के सजा की मांग की है।

ये भी पढ़ें: निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों की फांसी की सजा बरकरार, देखिए दर्द बयां करती तस्वीरें

पोस्टमार्टम के बाद शव को वाहन में रखते अस्पताल कर्मचारी। फोटो: साभार इंटरनेट

घरवालों की तहरीर के आधार पर उनके पड़ोसी मुख्य अभियुक्त सुमित को हिरासत में ले लिया गया है। थाने में दर्ज एफआईआर के मुताबिक सोनीपत के कोलपुर गांव का रहने वाला सुमित तलाकशुदा युवती पर पिछले काफी समय से शादी के लिए दबाव बना रहा था। युवती के कई बार मना करने पर वह करीब एक सप्ताह पहले अपने साथियों को लेकर उसके घर आया और झगड़ने लगा। विवाद इतना बढ़ गया कि युवती ने उसे थप्पड़ मार दिया।

युवती के माता-पिता के अनुसार इसका बदला लेने के लिए ही उसने अपने साथियों के साथ मिलकर यह अमानवीय हरकत की। सुमित के साथ ही उसका एक और साथी पुलिस की हिरासत में है। जबकि उसके दूसरे साथियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top