Top

यूपी पंचायत चुनाव: वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने का इस तारीख तक है आखिरी मौका, ऐसे ऑनलाइन देखें सूची में नाम

अगर आपका नाम भी वोटर लिस्ट में नहीं तो जल्द ही अपना नाम जुडवाएं, क्योंकि जो लोग अभी भी गांव की मतदाता सूची में अपना नाम नहीं जुड़वा पाए हैं उनके लिए एक और मौका दिया गया है।

Ajay MishraAjay Mishra   28 Dec 2020 4:22 PM GMT

gram panchayat chunav 2020 current news todayग्राम पंचायत चुनावों में अपना नाम देखने और जुड़वाने के लिए ऑनलाइन तरीके खबर में पढ़ें। फोटो प्रतीकात्मक

लखनऊ/कन्नौज। उत्तर प्रदेश में साल 2021 में होने वाले ग्राम पंचायत चुनावों के लिए ड्राफ्ट वोटर लिस्ट (अनंतिम मतदाता सूची) 27 दिसंबर को प्रकाशित कर दी गई है। पिछले कई दिनों से राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर गांवों में वोटरों के नाम जोड़ने और घटाने का काम चल रहा था। जो लोग अभी भी किन्हीं कारणों से गांव की मतदाता सूची में अपना नाम नहीं जुड़वा पाए हैं और अगर वो प्रधानी के चुनाव में वोट डालना चाहते हैं तो उनके लिए एक और मौका दिया गया है।

आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (ग्राम पंचायत चुनाव) के लिए 27 दिसम्बर को अंतिम वोटर लिस्ट प्रकाशित हो गई है। लेकिन एक बार फिर से तीन जनवरी 2021 तक मतदाता बनने का अंतिम मौका ग्रामीणों को मिल गया है। जो लोग छूट गए हैं, वह वोटर बनने के लिए फार्म भर सकते हैं। इसमें एक जनवरी को 18 साल की उम्र पूरी करने वाले भी आवेदन कर सकेंगे।

उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी बिनीत कटियार ने गांव कनेक्शन को बताया कि "28 दिसम्बर 2020 से तीन जनवरी 2021 तक दावा व आपत्तियां भी दी जा सकती हैं। प्रदेश में सम्बंधित जिले में अगर किसी का नाम वोटर लिस्ट से छूट गया है तो दावा कर सकता है। अगर कोई गलत नाम जुड़ा है तो भी आपत्ति कर सकता है।"

सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी कन्नौज बिनीत कटियार आगे बताते हैं कि "ग्राम पंचायतों की अनंतिम सूची भी प्रकाशित कर दी गई है, उसे भी निशुल्क देखा जा सकता है। तीन जनवरी तक ग्राम पंचायतों के निवासी जो वोटर नहीं बन पाए हैं या एक जनवरी 2021 को 18 साल की उम्र पूरी कर रहे हैं, वह आवेदन कर वोटर बन सकते हैं। " राज्य निर्वाचन आयोग ने पहले एक जनवरी 2020 तक 18 साल की उम्र पूरी करने वालों को वोटर बनने का अवसर दिया था, लेकिन अब एक जनवरी 2021 कर दिया है।

उत्तर प्रदेश की 58,758 ग्राम पंचायतों, 75 जिला पंचायत और 821 क्षेत्र पंचायतों (बीडीसी) के प्रधान, पंच, सदस्यों और अध्यक्षों के मार्च के बाद चुनाव हो सकते हैं। ग्राम पंचायतों के प्रधानों का कार्यकाल 25 दिसंबर को समाप्त हो चुका है। प्रधानों का ना तो कार्यकाल बढ़ाया गया है और न ही उन्हें प्रशासक की जिम्मेदारी दी है। बल्कि एडीओ सहायक विकास अधिकारी (Assistant Development Officer) को प्रशासक की कमान सौंपी गई है।

Voter list published for Panchayat elections, till January 3, voters can add their name to the list

ग्राम पंचायत चुनाव में मतदान के लिए वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग की साइट पर जाएं। फोटो -साभार वेबसाइट

ग्राम पंचायत में अपना नाम ऑनलाइन जुड़वाने के लिए राज्य चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जाएं..

अगर आपको अपनी ग्राम पंचायत में अपना नाम चेक करना है तो यहां देखें

उत्तर प्रदेश के राज्य निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर ऐसे देखें ग्राम पंचायत चुनाव की मतदान सूची में अपना नाम।

यह है निर्वाचन आयोग का कार्यक्रम

27 दिसम्बर 2020 को अनन्तिम मतदाता सूची प्रकाशित।

28 दिसम्बर से तीन जनवरी 2021 तक दावा व आपत्तियां ली जाएंगी।

04 से 11 जनवरी तक दावा व आपत्तियों का निस्तारण होगा।

22 जनवरी को अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन होगा।

इन लोगों के हटाए गए हैं नाम

ग्राम पंचायतों की मतदाता सूची से मृतक, दो जगह के वोटर व स्थान छोड़ चुके लोगों के नाम हटाए गए हैं। पिछले दिनों तक चले मतदाता पुनरीक्षण अभियान के तहत नए वोट बनाने, नाम-पता संशोधन और गलत नाम हटाने का सिलसिला चला था। हालांकि अंतिम मौका मिलने के बाद वोटरों की संख्या फिर से बढ़ जाएगी।

कन्नौज में बढ़ गए 154511 मतदाता

यूपी के कन्नौज जिले में 154511 वोट बढ़ाए गए हैं। 33478 नाम-पता संशोधन हुए हैं। 93554 नाम मतदाता सूची से हटाए गए हैं। इन सबके बाद जनपद में कुल 60957 वोट बढ़ गए हैं। अब ग्राम पंचायतों में 1116091 वोटर हो गए हैं। पांच साल पहले पिछले चुनाव में 1055134 मतदाता थे। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी बिनीत कटियार ने बताया कि ब्लॉक कन्नौज क्षेत्र में नए 24868 वोटर जुड़े व 13850 मतदाता कम हुए। जलालाबाद इलाके में 10723 मतदाता जुड़े और 5754 नाम हटाए गए। तालग्राम में 20868 नाम जोड़े गए और 14006 नाम हटाए गए। छिबरामऊ में 25122 वोट बने और 14892 नाम हटाए गए। सौरिख में 19607 नाम जुड़े और 11329 वोटर कम हुए। उमर्दा में सबसे अधिक 29812 वोटर बनाए गए और 18478 नाम कम हुए। हसेरन में 14913 मतदाता बने और 10322 नाम हटे। इसी तरह गुगरापुर में 8598 नए वोटर बढ़े और 4923 नाम हटाए गए।

ये भी पढ़ें- यूपी पंचायत चुनाव : ग्रामीणों की सेवा में जुटे प्रधानी के दावेदार- जिसके घर में जितने वोट, उसकी उतनी सेवा

ये भी पढ़ें- आखिर कौन हैं ये प्रधान पति, प्रधान पुत्र और प्रधान ससुर ?

संबंधित खबर- जानें ग्राम पंचायत और उसके अधिकार, इस तरह गांव के लोग हटा सकते हैं प्रधान

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.