देखिए कैसे बनता है लखनऊ का सबसे ऊंचा रावण का पुतला

Shubham KoulShubham Koul   7 Oct 2019 5:59 AM GMT

लखनऊ। विजयदशमी के दिन देश भर में रावण का पुतला जलाया जाता है, लेकिन कभी आपने सोचा है कि रावण के बड़े बड़े पुतले बनाने में कितनी मेहनत लगती है और कौन बनाता है।

ऐशबाग में हर साल लखनऊ की सबसे बड़े रावण का पुतला लगाया जाता है, इसे बनाने में महीनों की मेहनत लगती है और बनाने वाले ज्यादातर कलाकार मुस्लिम ही होते हैं। रावण को बनाने वाले कलाकार शाकिब अहमद (पप्पू आर्टिस्ट) और उनके साथी एक महीने पहले से पुतले के अलग-अलग हिस्से बनाने में लग जाते हैं।

"ऐशबाग राममलीला समिति में 121 फीट के रावण बनाया जाता है, छोटे छोटे हिस्से में हम बनाते हैं, पूरे एक महीने का टाइम लग जाता है एक के ऊपर एक चढ़ाया जाता है तब कहीं जाकर 121 फीट के रावण का पुतला बनता है।" शाकिब ने बताया।

ये भी पढ़ें - जब रामलीला में राम और रावण ने उर्दू में बोले डायलाग्स

121 फीट रावण के दहन को एलईडी स्क्रीन पर दिखाया जाएगा

शाकिब आगे बताते हैं, "रावण को चाहे जितना खूबसूरत बना दिया जाए, जलना तो होता ही है, मुस्लिम होने के बावजूद हम इसे बनाते हैं, पूरी समिति साथ देती है, आर्टिस्ट का कोई धर्म नहीं होता, हम तो कलाकार हैं, कलाकार तारीफ का ही भूखा होता है, बस तारीफ हो जाए यही बहुत है।"

रावण दहन के साथ दिलायी जाएगी कन्या भ्रूण हत्या रोकने की शपथ

121 फीट के रावण के पुतले में लिखे हैं संदेश

इस बार यहां रावण दहन के साथ कन्या भ्रूण हत्या, महिला हिंसा जैसी सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिए जनता से संकल्प दिलाया जाएगा। रावण के दहन से पहले लोगों से शपथ दिलाई जाएगी कि वह न तो कन्या भ्रूण हत्या करेंगे न ही किसी को करने देंगे। ऐशबाग रामलीला ग्राउंड में शहर का सबसे बड़ा रावण दहन होगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top