एंटीऑक्सीडेंट्स की भरमार है शकरकंद में: Herbal Acharya

Deepak AcharyaDeepak Acharya   20 Jun 2019 12:30 PM GMT

जंक फूड ने जिस तरह से बाज़ार में पैर पसार रखे हैं उसके दुष्परिणाम आए दिन देखने को मिलते हैं। बच्चों के बीच कई तरह की सब्जियों और फलों को लेकर लगाव कम देखा जाता है। शकरकंद (Sweet Potatoes) की बात करें तो अधिकांश घरों में इसका सेवन न के बराबर देखा जाता है जबकि इसके गुणों की बात करें तो सेहत के लिए यह बेहद उपयोगी होता है। शकरकंद के गुणों के बारे में लोग कम जानते हैं और तो और यह बाज़ार में भी कम दिखाई देता है। शकरकंद तो प्रकृति की अनमोल देन है, जिस दौर में अकाल और भूखमरी की समस्याएं आम होती थी उस दौर में लोगों के लिए शकरकंद एक वरदान की तरह था। जमीन के भीतर उगने और शक्कर की तरह मिठास लिए होने की वजह से इसे शकरकंद कहा जाता है।

शकरकंद को उबालकर या भूनकर खाया जाए तो शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार साबित होता है। शकरकंद के छिलके गुलाबी रंग लिए होते हैं और इन छिलकों में एंटी कैंसर तत्व एंथोसायनिन पाया जाता है। गुलाबी छिलकों वाले फलों और सब्जियों को जरूर खाया जाना चाहिए।

शकरकंद का इस्तमाल कर कई स्वादिष्ट व्यंजन भी बनाए जा सकते हैं। इससे बनायी चाट बेहद स्वादिष्ट होती है।

ये भी पढ़ें: बालों से जुड़ी समस्याएं हैं तो आजमाएं प्याज

ये एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) की खदान माने जाते हैं और इसके छिलकों में बीटा कैरोटीन भी जबरदस्त पाया जाता है। एक शोध के परिणामों के अनुसार यदि रोज शकरकंद खाया जाए तो महिलाओं में स्तन कैंसर होने की संभावनांए 24 % कम हो जाती है। जापानी वैज्ञानिकों के एक अध्धयन के अनुसार शकरकंद का जूस स्तन कैंसर होने पर कैंसर कोशिकाओं की वृद्दि रोकता है और नयी कैंसर कोशिकाओं के बनने के क्रम को रोकता है।

शकरकंद को उबाल लिया जाए और फिर उसे छील लिया जाए। छिले हुए शकरकंद को बारीक काटकर एक बाउल या गहरे कटोरे में रख दिया जाए। एक कढ़ाही में घी लेकर गर्म किया जाए, इसमें गुड़ के बारीक टुकड़े तैयार कर डाल दिए जाएं, कुछ देर में सारा गुड़ पिघल जाएगा। इस समय जब कि गुड़ पूरी तरह से घुल चुका होगा इसकी चासनी तैयार हो चुकी होगी। इस चासनी में शकरकंद के छोटे छोटे टुकड़े डाल दिये जाएं और इन्हें डुबोए रखा जाए ताकि ये चासनी को सोख लें। इस पर भुनी हुयी चिरौंजी डाल दी जाए और अच्छी तरह से मिला दिया जाए। बस तैयार हो जायेगा शकरकंद का हलवा। शकरकंद में आयरन, फोलेट, कॉपर, मैग्नीशियम, विटामिन आदि होते हैं, जिससे इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत बनता है।

ये भी पढ़ें: नीलगिरी का तेल है बड़े काम का

इसे खाने से त्‍वचा में चमक आती है और चेहरे पर जल्‍दी झुर्रियां नहीं पड़ती। शकरकंद के सेवन से आंखों की रौशनी बढती है और इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत होता है। इसके साथ ही इसमें बीटा कैरोटीन होता है जो शरीर में फ्री रैडिकल्‍स से लड़ता है और जल्‍द बुढ़ापा नहीं आने देता। इसमें विटामिन सी पाया जाता है जो कि त्‍वचा में कोलाजिन का निर्माण कर के त्‍वचा की जवानी बनाए रखता है।

इसी तरह की नायाब और अनोखी जानकारियों को लगातार देखते रहने के लिए 'गाँव कनेक्शन' के यूटयूब चैनल को सब्सक्राइब करें और देखते रहें 'हर्बल आचार्य'।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top