कर्जमाफ होने से खुश किसान ने कहा- अब कर पाऊंगा बेटी की शादी 

कर्जमाफ होने से खुश किसान ने कहा- अब कर पाऊंगा बेटी की शादी फसल ऋण मोचन कार्यक्रम में कल 7500 किसानों को मिले थे प्रमाण पत्र। 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। शक्तिदीन कुमार (57 वर्ष) अब अपनी बेटी की शादी बिना किसी चिंता के कर सकेंगे। पिछले चार साल से उनके ऊपर अस्सी हजार रुपए का कर्जा था, जिसको वो चुका नहीं पा रहे थे। उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए योगी सरकार ने फसल ऋण मोचन योजना की शुरुआत की थी, जिसमें गुरुवार को किसानों को प्रमाण-पत्र दिए गए।

“बेटी की उम्र हो रही थी पर कर्ज की वजह से उसकी शादी नहीं कर पा रहे थे। बैंक से 50 हजार रुपए कर्ज लिया था जो 80 हजार हो गया। फसल भी अच्छी नहीं हुई थी। सरकार ने हमारे लिए ये बड़ा काम किया है। अब बेटी की शादी कर पाएंगे।” ऐसा बताते हैं शक्तिदीन कुमार। लखनऊ जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर मलिहाबाद तहसील के अल्लीपुर गाँव के शक्तिदीन के पास 18 बिस्वा जमीन है, जिसमें वह गेहूं, धान लगाते हैं।

ये भी पढ़ें- किसानों को आर्थिक रूप से इतना मजबूत कर दे कि कर्ज लेने की जरूरत न पड़ें : योगी आदित्यनाथ

राजधानी के स्मृति उपवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ जिले के 7500 से ज्यादा किसानों को ऋण मोचन प्रमाण-पत्र दिया गया। कार्यक्रम में कर्जमाफी का प्रमाण-पत्र लेने आए केडौना गाँव के मो. शाहबद्दीन (55 वर्ष) धान की खेती करते हैं। अपनी खुशी जाहिर करते हुए शाहबद्दीन बताते हैं, “मेरे ऊपर 85 हजार रुपए का कर्ज था। सरकार के इस फैसले से मैं बहुत खुश हूं मेरे गाँव के और भी किसान हैं जिन का कर्जा माफ हुआ है इससे हम खेती में सुधार कर सकेंगे।”

मोहनलालगंज ब्लॅाक के रामपुरघटी जमुनी गाँव में रहने वाले दया प्रसाद (50 वर्ष) काफी खुश हैं कि उनका 90 हजार रुपए कर्ज माफ हो जाएगा। दया प्रसाद बताते हैं, “खेती करना आसान नहीं है। खेती के लिए ट्रैक्टर, खाद इन सब को खरीदने के लिए कर्ज की जरुरत पड़ती है और फसल अच्छी न हुई तो और नुकसान झेलना पड़ता है। चार साल से चिंता थी कि कैसे इस कर्ज को चुकाएंगे लेकिन सरकार ने हमारी मदद की है।”मुख्यमंत्री और गृहमंत्री द्वारा किसानों को प्रमाण-पत्र बांटने के बाद पूरे प्रदेश में इस योजना को पांच सितंबर को लागू किया जाएगा। इस दिन हर जिले में प्रभारी मंत्री किसानों को प्रमाण-पत्र बांटेंगे।

ये भी पढ़ें- यूपी : कर्जमाफी योजना का आगाज, गृहमंत्री ने कहा, सीएम योगी ने कथनी-करनी में अंतर नहीं आने दिया

“तीन साल पहले हमने खेती के लिए कर्जा लिया था। आवारा पशुओं ने फसल को बर्बाद कर दिया बहुत नुकसान हुआ। सरकार ने हमारा कर्जा माफ कर दिया है इससे हम बहुत खुश है। अब बिना किसी चिंता के दुबारा से खेती शुरू कर सकेंगे।” ऐसा बताते हैं, रामगुलाम (75वर्ष)। रामगुलाम के पास मोहनलालगंज तहसील के सल्लूमऊ गाँव में करीब 20 बीघा खेती है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, प्रदेश भर में अन्ना पशु घूम रहे हैं, दूध पीने के बाद गायों को सड़कों पर मत छोड़ें, अगर उन्हें माता मानते हैं तो उसके लिए काम कीजिए, हम गौवंश की उन्नत नस्ल के लिए किसानों को मदद कर रहे हैं, अब तक किसानों के पास बिजली कनेक्शन नहीं था, लेकिन हमने सात लाख किसानों को बिजली कनेक्शन देने का काम किया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top