खेती में प्रयोग करने वाले किसान बन सकते हैं अपने क्षेत्र के रोल मॉडल

दिल्ली में कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने किसानों की आमदनी बढ़ाने और सरकार की योजनाओं को लेकर किसानों से की चर्चा.. प्रगतिशील किसानों को मिलेगा बढ़ावा

Arvind ShuklaArvind Shukla   17 May 2018 1:35 PM GMT

खेती में प्रयोग करने वाले किसान बन सकते हैं अपने क्षेत्र के रोल मॉडल

लखनऊ/नई दिल्ली। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय अब स्थानीय स्तर पर अच्छा और सकारात्मक काम करने वाले किसानों के मॉडल को उस इलाके में लागू कराएगी। केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि छोटे और गरीब किसानों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिले और उनकी आमदनी बढ़ें, इसके लिए हमारी सरकार हर संभव कोशिश कर रही है।

नई दिल्ली स्थित कृषि मंत्रालय के दफ्तर में कृषि और किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने गुरुवार को खेती की दशा सुधारने की कोशिश में जुटे और प्रयोगधर्मी लोगों से मुलाकात की। इस बैठक में एनडीए सरकार के चार साल में चलाई जा रही किसानों के लिए योजनाओं को लेकर भी चर्चा हुई। बैठक में आए लोगों से फीडबैक लेकर उनमें सुधार की बात की गई। इस बैठक में कृषि मंत्री ने किसानों से कहा कि स्थानीय स्तर पर अच्छा काम करने वाले किसानों के मॉडल को उस इलाके में लागू करने पर विचार करने की तैयारी है।

कृषि मंत्री की बैठक में शामिल होने के बाद गांव कनेक्शन से बात करते हुए बुलंदशहर के प्रगतिशील किसान और प्राकृतिक खेती के हिमायती भारत भूषण त्यागी ने कहा, "कृषि मंत्री की ये काफी अच्छी पहल रही कि खेती से जुड़े लोगों से सीधे बात की। हम लोगों ने बताया कि मंत्रालय की कौन सी योजनाएं किसानों के लिए अच्छी साबित हो रही हैं और किसमें खामियां। इसके साथ बाजार व्यवस्था सुधारने,पानी की बचत करने और जैविक खेती को बढ़ावा देने पर बात हुई।"


करीब 30-40 लोगों के समूह में कई लोगों ने सरकार को किसानों की दशा सुधारने के लिए सुझाव भी दिए। भारत भूषण त्यागी ने कहा, "मैंने विश्वविद्यालयों के पाठयक्रम में जैविक खेती को जोड़ा जाए और उसमें प्राकृतिक तरीकों को तरजीह मिले, इसके सुझाव दिए। बच्चों को बताया जाए कि प्रकृति का नियम क्या है, प्रकृति चाहती क्या है और वो लोगों को दे क्या सकती है।

दूसरा हमने कहा कि कृषि विभाग की परंपरागत व्यवस्था में अनुभवी और प्रशिक्षित कर्मियों की कमी है, कृषि विभाग को चाहिए इसके लिए प्रगतिशील किसानों और युवाओं को प्रशिक्षित करे।" बैठक में जैविक से औषधीय खेती को बढ़ावा देने की बात रखी गई है, क्योंकि इसमें किसानों को मुनाफा ज्यादा है।

गाजियाबाद के अनुज भाई और बुलंदशहर के सौरभ शर्मा ने मेढ़ों पर पेड़ लगाने खासकर मेडिशनल प्लांट को तवज्जो देने की योजना का सुझाव दिया। भारत भूषण त्यागी के मुताबिक कृषि मंत्री ने इन सुझावों पर अमल करने का भरोसा दिया है। बैठक के बाद कृषि मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि सुधारवादी लोगों के समूह से मिलकर अच्छा लगा।

भारत भूषण त्यागी प्राकृतिक तरीके से खेती करने के लिए किसानों को प्रशिक्षित करते हैं। पिछले वर्ष नोएडा में हुए विश्व जैविक कृषि कुंभ में उन्हें धरती पुत्र से सम्मानित किया गया था। उन्हें यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी सम्मानित कर चुके हैं।

ये भी पढ़ें- खेत उगलेंगे सोना, अगर किसान मान लें ' धरती पुत्र ' की ये 5 बातें



More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top