भण्डारण से पहले मैलाथियान का छिड़काव सुरक्षित रखेगा अनाज 

भण्डारण से पहले मैलाथियान का छिड़काव सुरक्षित रखेगा अनाज गेहूं भण्डारण को सुरक्षित रखने के लिए मैलाथियान का छिड़काव करें।

मोबिन अहमद, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

रायबरेली। इस समय गेहूं की कटाई-मड़ाई का समय चल रहा है, ज्यादातर किसान गेहूं की कटाई-मड़ाई का काम पूरा कर चुके हैं। ऐसे में किसान सही भंडारण से गेहूं को सुरक्षित रख सकते हैं।

जिले के बछरावां ब्लॉक निवासी (56 वर्ष) किसान राम निहोर बताते हैं, “पिछले वर्ष हमारी गेहूं की फसल बहुत अच्छी हुई थी। पर गेहूं भंडारण की पूर्ण जानकारी ना होने के कारण हमारे गेहूं में घुन और फफूंद लग गई थी। जिससे मेरा लगभग दो कुंतल गेहूं खराब हो गया था।”

ये भी पढ़ें- मक्के की फसल को तना छेदक कीट के प्रकोप से इस तरह बचाएं किसान

ब्लॉक के कृषि रक्षा इकाई के प्रभारी अजय सिंह (35 ) गेहूं के सुरक्षित भंडारण के बारे में बताते हैं, “गेहूं भंडारण के समय किसान को हवा और नमी का सबसे पहले ध्यान रखना चाहिए भंडारण के समय हवा पछियाव की होनी चाहिए और गेहूं की नमी 8 से 12 प्रतिशत होनी चाहिए। नमी जांचने का सबसे आसान तरीका है कि किसान गेहूं को अपने दांत से कुटके और कूटकने पर कुट से आवाज आने पर किसान समझ जाएगी गेहूं में पर्याप्त नमी है।”

अजय सिंह आगे बताते हैं, “भंडारण के दौरान सबसे पहले किसान जिस कमरे में भंडारण करना चाहता है, उस कमरे में जितने भी चूहों के बिल हो उन्हें बंद करके दीवार पर चूना या मैलाथियान से छिड़काव करें जिससे अनाज को हानि पहुंचाने वाले सूक्ष्मजीव और कीट मर जाते हैं।”

ये भी पढ़ें- बरेली के किसानों ने बड़े पैमाने पर शुरू की टमाटर की खेती

“जिन बोरियों में हमें गेहूं रखना है उन बोरियों में अंदर से मैलाथियान का लेप करके सुखा लें फिर उसमें गेहूं भर के 10 कुंतल प्रति 10 ग्राम की मात्रा से एल्युमीनियम फास्फाइड रखकर कमरे को हवा रहित तरीके से सील बंद कर दें और अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से साफ कर लें।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top