फुटबाल खेलने वाली ये लड़कियां बहुत ख़ास है.. देखिए वीडियो

झारखंड की इन लड़कियों में किसी के भाई को नक्सलियों ने मार दिया, तो कुछ ऐसी हैं जिन्हें तस्करों से छुड़ाया गया।

Manish MishraManish Mishra   15 May 2018 2:30 PM GMT

रांची(झारखंड)। शाम के चार बजे घंटी बजते ही उर्मिला खाका (15) अपने जूते बांधना शुरू कर देती हैं, क्योंकि इन्हें अपनी दोस्तों के साथ फुटबाल के मैदान में पहुंचने की जल्दी होती है।
झारखंड की इन लड़कियों में किसी के भाई को नक्सलियों ने मार दिया, तो कुछ ऐसी हैं जिन्हें तस्करों से छुड़ाया गया। लेकिन अब ये लड़कियां बुलंद हौसलों के बीच कड़वी यादों को जोरदार किक मारने के लिए मैदान में उतर चुकी हैं। नक्सल प्रभावित गाँवों के मैदानों में हर शाम फुटबाल खेलना अब इनका जुनून बन चुका है।
दरअसल, नक्सल और मानव तस्करी प्रभावित गाँवों में इसकी शुरुआत का मकसद था इन लड़कियों को तस्करों के चंगुल से बचाना। लड़कियों को तस्करी से बचाने और बेहतर ज़िंदगी देने के लिए झारखंड के गांवों की बेहतरी के लिए काम करने वाली संस्थाओं ने बनाया एक मास्टर प्लान। कैसे नक्सलियों और मानव तस्करी का दंश झेल रही इन लड़कियों और उनके माता पिता से संवाद किया जाए। फिर गाँव-गाँव बन गईं फुटबाल खेलने वाली लड़कियों की टोलियां। इसका मकसद था हर रोज गाँवों में लड़कियों की गिनती के साथ-साथ उनके माता-पिता की काउंसलिंग करना।
नक्सल प्रभावित जिलों-खूंटी और रांची के गाँवों में महिलाओं और ग्रामीण विकास पर कार्य करने वाली संस्था के प्रमुख अजय जायसवाल बताते हैं,
"शुरुआत में लड़कियों को फुटबाल खेलने के लिए तैयार करने में खासी मसक्कत करनी पड़ी, सबसे बड़ी बाधा थी टी-शर्ट और हाफ पैँट पहनने में शर्म और संकोच की दीवार का सामने आना। इसके लिए लड़कियों की माओं तक को फुटबाल की ड्रेस पहनकर मैदान में उतरना पड़ा, तब कहीं लड़कियों की झिझक खत्म हुई।"
इन फुटबालर लड़कियों मे से तो कई राज्य स्तर पर खेल भी चुकी हैं, इनकी ख्वाहिश है फुटबाल खेलने के साथ-साथ फौज या पुलिस में भर्ती होने की। क्योंकि यह अब कहीं से भी कमजोर न हीं रहना चाहतीं। उर्मिला खाका बताती हैं," हम फुटबॉल खेलकर आगे बढ़ना चाहते है खिलाड़ी बनना चाहते है।"
झारखंड की इन लड़कियों में किसी के भाई को नक्सलियों ने मार दिया, तो कुछ ऐसी हैं जिन्हें तस्करों से छुड़ाया गया। लेकिन अब ये लड़कियां बुलंद हौसलों के बीच कड़वी यादों को जोरदार किक मारने के लिए मैदान में उतर चुकी हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top