महिलाओं के प्रति बढ़ रही हिंसा के खिलाफ लोगों को नुक्कड़ नाटकों के जरिए जागरुक किया गया

Shrinkhala PandeyShrinkhala Pandey   28 Dec 2017 5:48 PM GMT

महिलाओं के प्रति बढ़ रही हिंसा के खिलाफ लोगों को नुक्कड़ नाटकों के जरिए जागरुक किया गयानुक्क्ड़ नाटक के जरिए लोगों को समझाया गया महिलाओं का सम्मान करना।

लगातार बढ़ रहे महिला अपराधों, दहेज को लकर बढ़ रही घरेलू हिंसा व कार्यस्थलों पर बढ़ रहे उत्पीड़न को लेकर आज उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग ने कई जगहों पर नुक्क्ड़ नाटक दिखाकर लोगों को जागरुक किया।

उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग ने महिलाओं की सुरक्षा, दहेज, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ व कार्यस्थलों पर बढ़ रहे उत्पीड़न को लेकर आज लखनऊ के शिरोज हैंगआउट, रुमी गेट, सहारा माल व हुसैनाबाद के पास युवकों व युवतियों ने नुक्कड़ नाटक करके लोगों को जागरुक किया।

राज्य महिला आयोग ने की पहल।

कार्यस्थलों पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। लोकसभा सत्र के दौरान महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की 2014 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में वर्ष भर में सिर्फ 526 यौन उत्पीडऩ के मामले सामने आए जिसमें 57 केस ऑफिस के और 469 अन्य कार्यसंबंधी क्षेत्रों से थे।

ये भी पढ़ें: कांच वाले दफ्तरों में ही नहीं गांवों में महिलाएं कार्यस्थल पर यौन हिंसा का शिकार होती हैं...

युवक व युवतियों ने नुक्कड़ नाटक के द्वारा बताई महिलाओं की परेशानी।

कार्यक्रम राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष जरीना उस्मानी के निर्देशानुसार कराश गया था।

ये भी पढ़ें: सत्तर फीसदी महिलाएं कार्यस्थल पर होने वाले यौन शोषण की शिकायत नहीं करतीं: एनसीडब्ल्यू

ये भी पढ़ें: अपराध की सूची में शीर्ष पर उत्तर प्रदेश: एनसीआरबी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top