पंचायत चुनाव : कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

पंचायत चुनाव : कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

बाराबंकी। बाराबंकी में हैदरगढ़ की जिला पंचायत सदस्य की सीट जीतने को लेकर सपा और बसपा की तगड़ी लड़ाई है। नेता लोग इस सीट को जीतने के लिए हर हथकंडे अपना रहे हैं। तीसरे चरण में मतदान के लिए 288 मतदान केन्द्र और 679 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। तीसरे चरण में मतदान को शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए छह जोन और 26 सेक्टर बनाये गये है। मतदान कार्मिकों को आज मतदान सामग्री उपलब्ध करायी गयी। मत पत्र, मत पेटिका और मतदाता सूची 16 अक्टूबर को मतदान पार्टी प्रस्थान करने से पूर्व मतदान कार्मिकों को उपलब्ध करायी जायेगी।

तीसरे चरण का मतदान 17 अक्टूबर को होना है। हैदरगढ़ से बीएसपी उम्मीदवार जावेद खान ने दावा किया कि क्षेत्र के अति पिछड़े और विकास से कोसों दूर में रहने वाले ग्रामीणों के लिए बेहतर सड़कें और बिजली देने के साथ-साथ मदद के आधार पर वो ये चुनाव जीत लेंगे। हैदरगढ़ वार्ड नंबर तीन से बीएसपी और उम्मीदवार सुनील कुमार मिश्रा सहित आधा दर्जन से अधिक डीडीसी उम्मीदवार मैदान में है लेकिन मुकाबला सपा और बसपा के उम्मीदवार जावेद खान के बीच ही माना जा रहा है। 

हैदरगढ़ वार्ड नंबर तीन से डीडीसी पद के लिए समाजवादी पार्टी की तरफ  से यूपी सरकार के ग्राम विकास मंत्री अरविन्द सिंह गोप के बड़े भाई अशोक कुमार सिंह चुनावी मैदान में है तो वहीं बहुजन समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व कैबिनेट मंत्री नेता विपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्या की प्रतिष्ठा भी उनके अपने युवा प्रत्याशी जावेद खान पर लगी है। इसके चलते सभी पार्टी के दिग्गजों की निगाहें इसी सीट पर टिकी हुयी है। बीएसपी उम्मीदवार जावेद खान और शिवकुमार मिश्रा सहित स्थानीय मतदाताओं ने सत्ताधारी नेताओं पर गंभीर आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से निष्पक्ष चुनाव कराये जाने की मांग की है।

 प्रदेश सरकार के ग्राम विकास मंत्री अरविन्द सिंह गोप के बड़े भाई अशोक कुमार सिंह डीडीसी की इस सीट को हर हाल में जीतने का दावा कर रहे हैं। उन्होंने बातचीत के दौरान कहा कि कम समय में उन्हें ज्यादा रुझान मिल रहा है तो वहीं युवाओं में अपनी बेहतर पकड़ बनाने वाले जावेद खान का भी नाम भी हर जगह सुर्खियों में है। 

रामनगर विधानसभा से सपा विधायक व यूपी सरकार में ग्राम विकास मंत्री अरविन्द सिंह गोप के बड़े भाई अशोक कुमार सिंह चुनाव मैदान में होने के चलते सपाई एड़ीचोटी से जोर लगाने में जुटे है तों वही बीएसपी समर्थित डीडीसी उम्मीदवार जावेद खान व स्थानीय मतदातावों ने भी सपा नेताओं पर गंभीर आरोप लगाते हुए कई गंभीर सवाल खड़े किये है। उन्होंने आरोप लगाया है कि उनको मतदाताओं के माध्यम से लगातार सूचना मिल रही है कि चुनाव के दौरान बूथ कैप्चरिंग की घटना को अंजाम दिया जा सकता है। पहले भी उस क्षेत्र में ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। उन्होंने ये भी आरोप लगाया है कि मंत्री जी का प्रचार प्रसार करने वाले दबंग लोग हैं वो उनके समर्थकों का उत्पीडऩ कर रहे हैं। 

क्षेत्रीय मतदाताओं ने भी सत्ताधारी लोगों पर सवाल खड़े किये हैं। चौबीसी गाँव निवासी बुजुर्ग शिव गोपाल मिश्रा का कहना है, जो क्षेत्र सुदूर इलाके में पड़ रहे है वहां बूथ कैप्चरिंग की संभावना पूरी है क्योंकि यहां पर बाहरी पुलिस फोर्स तैनात नहीं है। हैदरगढ़ वार्ड नंबर तीन के मतदाताओं में भी दहशत का माहौल है। स्थानीय मतदाता अंकित शुक्ला ने मंत्री के भाई व डीडीसी उम्मीदवार अशोक कुमार सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि नरौली स्थित उनके कॉलेज में सभी क्षेत्रीय कोटेदारों, ठेकेदारों सहित ग्राम प्रधानों को मोटी रकम देकर चुनाव जिताने का ठेका दिया गया है। साथ ही उन्होंने कहा क्षेत्र के बबलू सिंह और राजन सिंह सपा के ठेकेदार है। क्षेत्र में उनकी दबंगई है और बूथ कैप्चरिंग उनके द्वारा कराई जाने की पूरी-पूरी संभावना है। 

बीएसपी प्रत्याशी और स्थानीय मतदाताओं द्वारा ग्राम विकास मंत्री अरविन्द सिंह गोप के भाई अशोक कुमार सिंह पर चुनाव के दौरान बूथ कैप्चरिंग करवाने के आरोप के सम्बन्ध में जब बात की गयी तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा, ''जब भी कोई सत्ता में रहता है तो उसे विपक्ष घेरने का प्रयास करता है।" वो आगे बताते है, ''अगर चुनाव जीतेंगे तो अधूरी पड़ी सड़कों पर निर्माण कार्य कराया जाएगा।"

बाराबंकी जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्रा ने कहा, ''हैदरगढ़ वार्ड नम्बर तीन मे बूथ कैप्चरिंग करने की सूचना को संज्ञान में ले लिया गया है। पुलिस फोर्स साथ मैं खुद बूथों की निगरानी करूंगा"

Tags:    India 
Share it
Top