केजीएमयू: प्लास्टिक सर्जरी विभाग दस वर्षों में 346 कुष्ठ रोगियों का किया मुफ्त इलाज

Darakhshan Quadir SiddiquiDarakhshan Quadir Siddiqui   29 Jan 2017 9:18 PM GMT

केजीएमयू: प्लास्टिक सर्जरी विभाग दस वर्षों में 346 कुष्ठ रोगियों का किया मुफ्त इलाजकुष्ठ रोगियों की शल्य चिकित्सा के लिए भारत का नोडल सेंटर है केजीएमयू।

दरख्शां कदीर सिद्दीकी

लखनऊ। केजीएमयू के प्लास्टिक सर्जरी विभाग में 346 कुष्ट रोगियों को नि:शुल्क इलाज देकर स्वस्थ किया गया है। केजीएमयू का प्लास्टिक सर्जरी विभाग कुष्ठ रोगियों की शल्य चिकित्सा हेतु भारत का नोडल सेन्टर है और राष्ट्रीय कुष्ठ निवारण कार्यक्रम का हिस्सा है।

विभाग के विभागाध्यक्ष डा. एके सिंह ने बताया कि कुष्ठ रोगियों के विकृति की शल्य चिकित्सा द्वारा इलाज में केजीएमयू प्लास्टिक सर्जरी विभाग का बहुत महत्वपूर्ण योगदान है। प्रदेश के विभिन्न जिले जैसे बारांबकी, लखनऊ, सीतापुर, कानपुर, हरदोई, लखीमपुर इत्यादि में रोटरी क्लब की ओर से जिले में कुष्ट रोगियों की पहचान की जाती है, जिससे विकृति युक्त कुष्ठ रोगियों को खोजकर उनकी प्लास्टिक सर्जरी विभाग में शल्य चिकित्सा हो सके।

2008 से 2011 तक रोटरी क्लब और प्लास्टिक सर्जरी विभाग के सहयोग से विभाग में कुल 183 कुष्ठ रोगियों का निःशुल्क शल्य चिकित्सा दी गयी है। वहीं, 2011 से 2014 तक भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा अनुदान से विभाग में चलने वाले शोध कार्यक्रम के अर्न्तगत कुल 123 कुष्ठ रोगियों में शोध तथा शल्य चिकित्सा किया गया। इसके अलावा भारत सरकार भी कुष्ठ रोगियों की निःशुल्क शल्य चिकित्सा हेतु अनुदान देती है। पिछले दस वर्षो में उत्तर प्रदेश के लगभग 346 कुष्ठ रागियों की शल्य चिकित्सा की जा चुकी है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top