राहुल और धवन के साथ अच्छी दोस्ती का फायदा मिलता है : विजय

राहुल और धवन के साथ अच्छी दोस्ती का फायदा मिलता है : विजयमुरली विजय।

नई दिल्ली (भाषा)। श्रीलंका के खिलाफ कल से यहां शुरु हो रहे तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट में भारत के सामने भले ही फार्म में चल रहे तीन सलामी बल्लेबाजों में से एक को बाहर करने की दुविधा होगा, लेकिन भारत के सीनियर ओपनर मुरली विजय ने कहा है कि शीर्ष क्रम के प्रतिद्वंद्वियों लोकेश राहुल और शिखर धवन के साथ मैदान के बाद अच्छी दोस्ती से उन्हें इस तरह के हालात से निपटने में मदद मिलती है।

कोलकाता के ईडन गार्डन्स में तेज गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर धवन और राहुल ने दूसरी पारी में क्रमश: 94 और 79 रन की पारी खेली थी जहां तकनीकी रुप से भारत के सबसे सक्षम सलामी बल्लेबाज विजय को अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली थी। धवन ने इसके बाद दूसरे टेस्ट में निजी कारणों से ब्रेक लिया और विजय ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करते हुए 128 रन की पारी खेली।

ये भी पढ़ें - मुरली की रफ्तार पकड़ने के लिये विदेशों में बेहतर प्रदर्शन करना होगा अश्विन को

फिरोजशाह कोटला में कल से शुरु हो रहे अंतिम टेस्ट की अंतिम एकादश से धवन या राहुल में से एक का बाहर होना लगभग तय है और जब विजय से पूछा गया कि वे तीन इस तरह की स्थिति से कैसे निपटते हैं तो उन्होंने कहा, ''मैदान के बाहर हम तीनों के बीच काफी अच्छी दोस्ती है जिससे चीजें आसान हो जाती है। हालांकि जो बल्लेबाज नियमित खेल रहा हो और बाहर हो जाए वह थोड़ा अस्थिर हो जाता है। बेशक मैदान के बाद हम तीनों के बीच मैदान के बाहर अच्छे रिश्ते हैं और आगामी श्रृंखला (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ) तथा भविष्य में हमें इससे काफी मदद मिलेगी।''

टीम में जगह नहीं मिलने पर इससे निपटने के बारे में पूछने पर विजय ने कहा, ''हम इसे सहज रखते हैं और मजे करते हैं। इस बारे में खुलकर बात करते हैं और अपने अंदर चीजों को रखने की तरह इस पर बात करते हैं जिससे कि बाकी लोगों को पता चले कि हम क्या महसूस कर रहे हैं।''

ये भी पढ़ें - भाग्यशाली हूं कि एक बार फिर अपने पैरों पर खड़ा होकर खेल रहा हूं: रोहित शर्मा

उन्होंने कहा, ''यह बेहतर है कि हम खुलकर बात करें। मैं या शिखर जो भी महसूस कर रहे होते हैं उसे जाहिर कर देते हैं और आगे बढ़ते हैं। हम मजा करने वाले लोग हैं और हम एक साथ चीजें करते हैं। मैदान के बाद हम अच्छा समय बिताते हैं जिससे एक टीम के रुप में हमें मदद मिलती है। विजय ने हालांकि संभावित अंतिम एकादश और बल्लेबाजी क्रम में बदलाव से जुडे सवाल का कोई सटीक जवाब नहीं दिया।''

उन्होंने कहा, ''मुझे नहीं पता। टीम प्रबंधन जो भी फैसला करेगा हम उसके मुताबिक प्रदर्शन करने में सक्षम हैं और सभी योगदान देना चाहते हैं। मुझे नहीं पता कि वे (टीम प्रबंधन) किस टीम के साथ उतरना चाहते हैं।'' चुनौतीपूर्ण हालात में खेलने के बारे में विजय ने कहा कि ऐसी स्थिति में संवाद और जानकारी साझा करना काफी महत्वपूर्ण हो जाता है।

ये भी पढ़ें - एक क्रिकेट कैलेंडर में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले कप्तान बने विराट कोहली

भारत की ओर से 52 टेस्ट में 10 शतक की मदद से 3536 रन बनाने वाले विजय ने कहा, ''हम पिछले काफी समय से विदेशों में साथ खेल रहे हैं। हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है कि हम एक दूसरे के साथ संवाद करें और जानकारी साझा करें।'' दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारी के लिए विजय अभ्यास में टेनिस गेंद का इस्तेमाल कर रहे हैं जिस संदर्भ में उन्होंने कहा, ''आम तौर पर अभ्यास के समय मैं कुछ अलग करने की कोशिश करता हूं, जिससे कि खुद को चुनौती दे सकूं। मैं प्रत्येक दिन के साथ बेहतर होना चाहता हूं। यही कारण है कि मैंने इस तरह से अभ्यास करने का फैसला किया।''

तमिलनाडु के रणजी ट्राफी नाकआउट के लिए क्वालीफाई नहीं करने के कारण विजय ने दक्षिण अफ्रीक दौरे पर रवाना होने से पहले अगले तीन हफ्ते में अपनी फिटनेस और कौशल में सुधार की योजना बनाई है।

ये भी पढ़ें - ओलंपिक खेल बनने के लिये क्रिकेट का और विस्तार करना होगा : सहवाग

उन्होंने कहा, ''निश्चित तौर पर मैं फिटनेस और कौशल में सुधार करना चाहता हूं। मेरी ट्रेनिंग का कार्यक्रम अच्छा है और मैं इसे बरकरार रखते हुए आगामी बडी श्रृंखला की तैयारी करना चाहता हूं।'' तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को लगी चोट के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ''मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है लेकिन उन्होंने आज नेट पर अभ्यास किया. उम्मीद करते हैं कि वह खेलेंगे।''

ये भी पढ़ें - टेस्ट में सभी पांचों दिन बल्लेबाजी करने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज बने पुजारा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top