समाज के लिए काम करने वाली महिलाओं को मिला सम्मान 

Deepanshu MishraDeepanshu Mishra   16 April 2017 8:04 PM GMT

समाज के लिए काम करने वाली महिलाओं को मिला सम्मान इन महिलाओं को किया गया सम्मानित

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। कोई राजनीति के क्षेत्र में बेहतर काम कर रहा है तो कोई चिकित्सा के क्षेत्र में, ऐसी ही आज कई महिलाओं को सम्मानित किया गया।

अनुपमा फाउण्डेशन एवं अरिहन्त स्प्रैडिंग स्माईल फाउंडेशन के संयुक्त तत्वधान द्वारा आज सीएमएस गोमती नगर में कार्यक्रम स्वयं सिद्धा वूमेन अचीवर अवार्ड सीजन पांच का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत में अनुपमा सिंह ने बताया, ''अनुपमा फाउण्डेशन प्रत्येक वर्ष एक कार्यक्रम का आयोजन कर आपने क्षेत्र में, अपने कार्यों द्वारा एक अलग पहचान बनाने वाली महिलाओं को स्वयंसिद्धा अवार्ड से सम्मानित करती है और इस वर्ष यह चौथा आयोजन है। इस देश में आधी आबादी महिलाओं की है इसलिये देश को पूरी तरह से शक्तिशाली बनाने के लिये महिला सशक्तिकरण बहुत जरुरी है।''

उन्होंने ने आगे बताया, ''उनके उचित वृद्धि और विकास के लिये हर क्षेत्र में स्वतंत्र होने के उनके अधिकार को समझाना महिलाओं को अधिकार देना है। महिलाएँ राष्ट्र के भविष्य के रुप में एक बच्चे को जन्म देती है इसलिये बच्चों के विकास और वृद्धि के द्वारा राष्ट्र के उज्जवल भविष्य को बनाने में वो सबसे बेहतर तरीके से योगदान दे सकती है।

कार्यक्रम का शुभारम्भ मिम्फा डांस सिटी मान्टेसरी स्कूल के छात्राओं की वंदना से हुआ जिसे लोगो ने खूब पसंद किया स्कूल की संस्थापक एवं निदेशक मंजरी पाण्डे ने बताया कि यह नृत्य उन्होने महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखकर तैयार करवाया था।

स्वयंसिद्धा वूमेन अचीवर अवार्ड सीजन पांच को प्रारम्भ पिंकी आनंद, एडिस्नल सोलिसिटर ऑफ इंडिया, डा0 रीता बहुगुना जोशी कैबिनेट मंत्री, बाल एवं विकास मंत्रालय, जूही सिंह, अध्यक्षा बाल आयोग, प्रवीर कुमार - अध्यक्ष, राजस्व मंडल, जतिन शाह (फिल्म कलाकार), वीणा टंडन प्रोफेसर जूलॉजी, एनईएचयू, शिलांग, एस सी वर्मा पूर्व लोकायुक्त, के.एल. गुप्ता पूर्व डीजीपी, यू.पी., मनोज कुमार सिंह, आईपीएस, पूर्व एडीजी, यू.पी. पुलिस, हरिओम, आईएएस, सचिव-संस्कृति विभाग, यू.पी. सरकार, महंत दिव्या गिरि, मनकामेश्वर मंदिर, लखनऊ, आभा सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता, डॉ. अमृता दास, शिक्षाविद्, संस्थापक/निदेशक आईसीएस, शरत प्रधान पत्रकार, डा. स्वाती सक्सेना, सामाजिक कार्यकर्ता , श्रीमती अनुपमा सिंह ( अध्यक्षा अनुपमा फाउण्डेशन) ने किया।

डॉ. रीता बहुगुना जोशी ने कहा, ''महिलायें जब सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक रुप से सशक्त होगीं तभी सही मायने में महिला सशक्तिकरण होगा। महिलाओं की आबादी दुनिया की कुल जनसंख्या का लगभग 50 प्रतिशत है। महिलाओं का सशक्तिकरण सूक्ष्म और स्थूल दोनों स्तर पर समाज के समग्र विकास में भागीदार होगा। आर्थिक गतिविधियों और फैसलों में महिलाओं की सक्रिय भागीदारी, समग्र आर्थिक विकास की दिशा में योगदान करेगा।''

इन्हें किया गया सम्मानित

इरानी गरिमा सिंह राजनीति क्षेत्र में उत्कृष्ट महिला, डॉ. मधुलिका सिंह उत्कृष्ट महिला चिकित्सा और स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र, कल्सुम मुस्तफा मीडिया और पत्रकारिता क्षेत्र में उत्कृष्ट महिला, शायस्ता अम्बर सामुदायिक सेवा में उत्कृष्ट महिला, रानु कुलश्रेष्ठ- सामुदायिक सेवा में उत्कृष्ट महिला, भारती गांधी (संस्थापक/निदेशक- सीएमएस)- लाइफ टाइम एचीवमेन्ट, प्रतिभा शालिनी - यू.पी. में उत्कृष्ट वैश्विक महिला, मेजर डॉ. मीता सिंह - सामाजिक कार्य में उत्कृष्ट महिला, मीनू त्यागी सामाजिक कार्य में उत्कृष्ट महिला, मंजिलात फातिमा, अंकिता सिंह खेल में उत्कृष्ट महिला, सुफलता त्रिपाठी कला एवं साहित्य में उत्कृष्ट महिला, मालविका हरिओम कला एवं साहित्य में उत्कृष्ट महिला, कीर्ति नारायण शिक्षा क्षेत्र में उत्कृष्ट महिला, सुष्मा मिश्रा शिक्षा क्षेत्र में उत्कृष्ट महिला, श्वेता सिंह ग्रामीण क्षेत्र विकास में उत्कृष्ट महिला, शमा विग लखनऊ में उत्कृष्ट महिला, अलकंश्री दाहर कॉर्पोरेट क्षेत्र में उत्कृष्ट महिला, अंकिता सिंह कॉर्पोरेट क्षेत्र में उत्कृष्ट महिला, अपर्णा मिश्रा उद्यमिता में उत्कृष्ट महिला को इस कार्यक्रम में सम्मानित किया गया।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top